वीडियो गैलरी

Date
Month
Year
District
Video Category


Previous12345...9596Next

14-15 सितम्बर 2018, जशपुर जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। जशपुर एवं नारायणपुर जिलों से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

14-15 सितम्बर 2018, समुह चर्चा :-

हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत अध्ययन भ्रमण के पहले दिन जशपुर, नारायणपुर एवं सूरजपुर जिलों के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने समूह चर्चा का लाभ लिया। कार्यक्रम में सहायक विकास विस्तार अधिकारी श्री उदय राम कामड़े जी एवं विकास विस्तार अधिकारी श्री विजय साहू जी उपस्थित रहें। श्री कामड़े जी ने सभी संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों का यहाँ आने के लिए अभिवादन किया एवं हमर छत्तीसगढ़ योजना का उद्देश्य बताया। उन्होंने प्रशिक्षण के महत्व को भी सभी को बताया। आस्था मूलक एवं आय मूलक के बारे में जानकारी दी एवं सभी से कहा कि खाली जगहों पर अधिक से अधिक पेड़ लगाए ताकि सभी को स्वच्छ ऑक्सीजन की प्राप्ति हो सके।

14-15सितम्बर2018, बलौदाबाजार जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। बलौदाबाजार एवं सूरजपुर जिलों से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

10-11 सितम्बर 2018, कोरबा जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। कोरबा, कोरिया एवं दंतेवाडा जिलों से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

10-11 सितम्बर 2018, समूह चर्चा :-

हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत अध्ययन भ्रमण के दूसरे दिन कोरबा, कोरिया, दंतेवाड़ा, राजनांदगांव एवं धमतरी जिलों के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने समूह चर्चा का लाभ लिया। कार्यक्रम में विकास विस्तार अधिकारी श्री जयंत मिश्रा जी उपस्थित रहें। श्री मिश्रा जी ने सभी वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों का समूह चर्चा के कार्यक्रम में स्वागत किया। उन्होंने ने सभी से उनके भ्रमण के अनुभवों के बारे में जाना। पंडित दीनदयाल उपाध्याय मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि यह योजना बेरोजगार लोगों के लिए एक अवसर समान है क्योंकि आज कल जो नौजवान, महिलाएं, बालिकाएं जो पढ़े लिखे नही होती है उन्हें रोजगार मिलने में अधिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है परन्तु इस योजना के माध्यम से प्रशिक्षण कर वह अपने भविष्य उज्जवल कर सकते हैं। और यहाँ के प्रशिक्षण के माध्यम से रोजगार प्राप्त कर सकते है। प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के बारे में भी उन्होंने विस्तार से बताया कि किस प्रकार आप सभी इसका लाभ ले सकते है।

10-11 सितम्बर 2018, धमतरी जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। धमतरी एवं राजनादगांव जिलों से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

10-11सितम्बर 2018, राजनादगांव जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। राजनादगांव एवं धमतरी जिलों से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

10-11 सितम्बर 2018, कोरबा जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। कोरबा, कोरिया एवं दंतेवाडा जिले से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

10-11 सितम्बर 2018, समुह चर्चा :-

छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत अध्ययन भ्रमण के पहले दिन कोरबा, कोरिया, दंतेवाड़ा, राजनांदगांव एवं धमतरी जिलों के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने समूह चर्चा का लाभ लिया। कार्यक्रम में विकास विस्तार अधिकारी श्री जयंत मिश्रा जी, विविध सेवा प्राधिकरण से पैनल अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान जी, सहायक विकास विस्तार अधिकारी श्री उदयराम कामड़े जी एवं सहायक विकास विस्तार अधिकारी श्री विजय साहू जी उपस्थित रहें। श्री मिश्रा जी ने सभी वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों का हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत दो दिवसीय भ्रमण में आने के लिए आभार व्यक्त किया एवं कार्यक्रम को आघे बढ़ाते हुए सभी सदस्यों को हमर छत्तीसगढ़ योजना के महत्व को बताया कि इस योजना का उद्देश्य आप सभी को छत्तीसगढ़ के विकास से रूबरू करना है ताकि आप सभी इस विकास को देखकर अपने गाँव को भी विकासशील बनायें। श्री खान जी ने सभी को विधिक सेवा प्राधिकरण के बारे में बताया और कहा कि इसके माध्यम से आगजनी, बाढ़ पीड़ित, नक्सल प्रभावित क्षेत्र वरिष्ठ नागरिक, विकलांग एवं दिव्यांग समाज के अंतिम व्यक्ति के लिए मुक्त में पेशी के लिए वकील की सहायता प्रदान की जाती है। इसके पश्चात श्री कामड़े जी ने प्रशिक्षण के महत्व को सभी से साझा किया कहां की किसी भी कार्य को सीखने के लिए प्रशिक्षण जरूरी है। यह एक प्रकार का प्रशिक्षण है। उन्होंने कार्य योजना वृद्धि , वन संरक्षण, एवं वनों से उत्पाद व्यवसाय किस प्रकार करना इस प्रशिक्षण के माध्य्म से सभी को बताया और योजना बनाकर किस प्रकार कार्य करना है इसे भी बताया। उन्होंने कहा आपको बिगड़े वनों का सुधार करना है एवं औषधि वाले पौधे भी अधिक लगाना है। इन कार्यों से वनों का कल्याण होगा और इससे हमें शुद्ध वातावरण (आक्सीजन ) मिलेगा।

07-08 सितम्बर 2018, सूरजपुर जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। सूरजपुर, कांकेर एवं गरियाबंद जिले से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

07-08 सितम्बर 2018, रायगढ़ जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। रायगढ़ एवं राजनादगांव जिले से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

07-08 सितम्बर 2018, रायगढ़ जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। रायगढ़ जिले से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

07-08 सितम्बर 2018, कांकेर जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। कांकेर एवं सरगुजा जिलों से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

07-08 सितम्बर 2018, समुह चर्चा :-

हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत अध्ययन भ्रमण के पहले दिन रायगढ़, कांकेर, गरियाबंद एवं सरगुजा जिलों के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने समूह चर्चा का लाभ लिया। कार्यक्रम में विकास विस्तार अधिकारी श्री जयंत मिश्रा जी विविध सेवा प्राधिकरण से पैनल अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान जी एवं सहायक विकास विस्तारअधिकारी श्री उदयराम का कामड़े जी उपस्थित रहें। श्री मिश्रा जी ने सभी संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों का स्वगात किया एवं सभी को हमर छत्तीसगढ़ योजना के उद्देश्य के बारे में बताया। श्री खान जी ने विधिक सेवा प्राधिकरण के बारे में बताया।उन्होंने कहा कि यह आगजनी, बाढ़ पीड़ित, नक्सल प्रभावित क्षेत्र, विकलांग एवं दिव्यांग समाज के अंतिम व्यक्ति के लिए मुफ्त में पेशी के लिए वकील प्रदान करता है। साथ ही उन्होंने लोक अदालत, मोटर दुर्घटना अधिनियम, कब्जा प्राप्ति हेतु भू राजस्व सहिता, नामांकन बटांकन त्रुटि सुधार ,मोटर दुर्घटना दावा ,मोटर विकल एक्ट विधिक साक्षरता के बारे में भी बताया।

05-06 सितम्बर 2018, सूरजपुर जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। सूरजपुर , कोरबा एवं सुकमा जिलों से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

05-06 सितम्बर 2018, कांकेर जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। कांकेर एवं बिलासपुर जिलों से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

05-06 सितम्बर 2018, समूह चर्चा:-

हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत अध्ययन भ्रमण के दूसरे दिन सूरजपुर, कोरबा, बिलासपुर, कांकेर एवं सुकमा जिलों के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने समूह चर्चा का लाभ लिया। कार्यक्रम में विकास विस्तार अधिकारी श्री उदयराम कामड़े जी सहायक विकास विस्तार अधिकारी श्री जयंत मिश्रा जी एवं सहायक विकास विस्तार अधिकारी श्री विजय साहू जी उपस्थित रहे। श्री मिश्रा जी ने सभी वन प्रबंधन समितियो के सदस्यों से उनके भ्रमण के अनुभव के बारे में जाना एवं मंत्रालय भवन के कार्यों एवं नंदनवन जंगल सफारी के बारे में बताया कि यह एक मानव निर्मित जंगल है। विधानसभा की कार्यप्रणाली को भी बताया।उन्होंने कहा कि हमर छत्तीसगढ़ योजना का उद्देश्य आप सभी को विकास की राह पर ले जाना है। प्रधानमंत्री जीवन जयोति बीमा योजना के बारे में भी उन्होंने विस्तारपूर्वक बताया। श्री कामड़े जी ने सभी को संयुक्त होने का मतलब बताया। उन्होंने कहा कि आप सभी को एक साथ मिलकर कार्य करना होगा ताकि हमारे वन सुरक्षित रह सकें। क्योंकि उनसे ही हमें ऑक्सीजन की प्राप्ति होती है। उन्होंने यह भी कहा कि खाली जगहों पर अधिक से अधिक वृक्ष लगाने चाहिए।

05-06 सितम्बर 2018, कोरबा जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। कोरबा एवं सुकमा जिलों से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

05-06 सितम्बर 2018, कांकेर जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा “हमर छत्तीसगढ़"

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। कांकेर , बिलासपुर एवं सूरजपुर जिलों से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

31अगस्त-01सितम्बर 2018, महासमुंद जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा

गांव से शहर तक विकास का पैगाम ... हमर छत्तीसगढ़ योजना यानि प्रदेश के हर गांव में विकास का पैगाम, साथ ही क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए प्रेरणा और ऊर्जा। राज्य के विभिन्न जिलों से आए पंच-सरपंच एवं अन्य प्रतिनिधि राजधानी एवं नया रायपुर के विकास कार्यों का अवलोकन करते हैं। साईंस सेंटर में विज्ञान के अविष्कारों से कुछ नया अनुभव मिलता है, विधानसभा और मंत्रालय में संसदीय प्रणाली तथा प्रशासनिक कामकाज के बारे में जानकारी मिलती है। भव्य क्रिकेट स्टेडियम देखना बेहद सुखद लगता है। फाइव-डी डोम थियेटर में प्रदेश के विकास और योजनाओं की झलक देखने को मिलती है। कृषि विश्वविद्यालय में खेती-किसानी से जुड़े प्रतिनिधियों के लिए जानकारी का खजाना है। महासमुंद एवं बलरामपुर जिलों से अध्ययन-भ्रमण यात्रा पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने राजधानी एवं नया रायपुर के विकसित स्थलों का अवलोकन किया|

31अगस्त-01सितम्बर 2018, समुह चर्चा

हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत अध्ययन भ्रमण के दूसरे दिन जशपुर, बस्तर, जांजगीर-चम्पा, बलरामपुर-रामानुजगंज, महासमुन्द जिलों के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने समूह चर्चा का लाभ लिया। कार्यक्रम में विकास विस्तार अधिकारी श्री जयंत मिश्रा जी, प्रभारी अधिकारी श्री दिनेश अग्रवाल जी एवं विकास विस्तार अधिकारी श्री उदयराम कामड़े जी उपस्थित रहे। श्री मिश्रा जी ने सभी वन समितियों के सदस्यों से उनके भ्रमण के अनुभव पूछा। वनों की महत्वपूर्णता को बताने के लिए उन्होंने कहा कि वनों के कारण ही हमे वर्षा प्राप्त होती है आक्सीजन भी मिलती है। इसके अलावा दीनदयाल उपाध्याय कौशल विकास योजना, मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना, लाइवलीहुड कॉलेज, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, जनश्री बीमा योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना आदि के बारे में बताया। इसके पश्चात श्री अग्रवाल जी ने वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को बताया कि हमर छत्तीसगढ़ योजना एक महत्वकांक्षी योजना है। जिसमे अब तक लाखों लोग अलग-अलग समितियों से भ्रमण कर चुके है। इस योजना का उद्देश्य आप सभी को छत्तीसगढ़ की विकास की गति से अवगत कराना है।


Previous12345...9596Next