हमारी कहानी - हमारी जुबानी

रंग लाई ग्रीन आर्मी की मेहनत, खुले में शौचमुक्त हुआ देवरी

रंग लाई ग्रीन आर्मी की मेहनत, खुले में शौचमुक्त हुआ देवरी
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 2019 तक पूरे देश को खुले में शौचमुक्त करने के आह्वान, और प्रदेश में स्वच्छ भारत मिशन का काम शुरू होने के बाद धमतरी जिले के देवरी पंचायत के लोग भी स्वच्छता के प्रति जागरूक हुए। घर-घर शौचालय निर्माण के शासन के प्रयासों के साथ ही ग्रीन आर्मी बनाकर गांववालों ने भी साफ-सफाई के लिए लोगों को जागरूक किया। ग्रीन आर्मी के सदस्यों ने सभी घरों में शौचालय निर्माण और इसके इस्तेमाल के लिए गांववालों को लगातार प्रेरित किया। लोगों के सामूहिक प्रयास ने रंग लाया और अब देवरी खुले में शौचमुक्त गांव बन गया है। हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर रायपुर आए ग्रीन आर्मी के सदस्य और देवरी पंचायत से जुड़े श्री यशवंत यादव बताते हैं कि गांव को स्वच्छ रखने एवं गंदगी फैलाने वालों पर निगरानी के लिए वर्ष 2014 में ग्रीन आर्मी का गठन किया गया। गांव की महिलाओं एवं पुरूषों दोनों को इसमें जोड़ा गया। वे बताते हैं कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण के बाद भी लोग इसका नियमित इस्तेमाल नहीं करते थे। खुले में शौच के कारण सड़क, खेत और तालाब गंदगी से पटे रहते थे। बीमारी फैलने का खतरा हमेशा मंडराता रहता था। गांव को साफ-सुथरा रखने ग्रीन आर्मी ने गंदगी फैलाने और खुले में शौच करने वालों की निगरानी शुरू की। गांव के सभी इलाकों में अलसुबह और रात में ग्रीन आर्मी के सदस्यों को तैनात किया गया। टॉर्च और सिटी लेकर ग्रीन आर्मी की टीम ने खुले में शौच जाने वालों पर सख्ती की। उन्हें घर में शौचालय बनाने और उसका उपयोग करने की समझाइश दी। गंदगी के खतरों और इससे होने वाले नुकसान के बारे में बताया। पंचायत और ग्रीन आर्मी की कोशिशों के फलस्वरूप ग्रामीण स्वच्छता के प्रति सचेत हुए। सभी ने घर में शौचालय बनाकर उसका इस्तेमाल करना शुरू किया। एक-एक कर गांव के सभी घरों में शौचालय बन गए।