हमारी कहानी - हमारी जुबानी

उज्ज्वला योजना से उज्जवल है यहां की रसोई

उज्ज्वला योजना से उज्जवल है यहां की रसोई
रायपुर. 07 मई 2018. रायगढ़ जिले के चौरंग ग्राम पंचायत का आश्रित गांव है बैगिनझरिया। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत गांव के 200 परिवारों को निःशुल्क रसोई गैस और चूल्हा दिए गए हैं। अब यहां की हर रसोई धुएं और कालिख से मुक्त है। रसोई गैस से खाना भी जल्दी बन जाता है। परंपरागत चूल्हे के खतरनाक धुएं से जूझने वाली महिलाएं अपने घर और जीवन में आए इस बदलाव से काफी खुश हैं। हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर रायपुर आए रायगढ़ जिले के चौरंग पंचायत के सरपंच श्री रातूराम मांझी बताते हैं कि गांव के अधिकांश घरों में अब खाना सरकार द्वारा दिए गए रसोई गैस से बनता है। इससे अब उनका गांव लकड़ी और कंडे के जलने से होने वाले प्रदूषण से मुक्त है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उनके गांव में छह लोगों को आवास भी मिला है। पिछले खरीफ मौसम में समर्थन मूल्य पर धान बेचने वाले करीब 100 किसानों को प्रति क्विंटल 300 रूपए का बोनस भी मिला है। चौरंग के सरपंच श्री रातूराम मांझी बताते हैं कि उनका गांव वनोपज की दृष्टि से समृद्ध है। कृषि और वनोपज यहां आजीविका का प्रमुख साधन है। गर्मी के दिनों में लोग गांव से लगे जंगल में महुआ बिनते हैं। इसके बाद चार और तेंदूपत्ता तोड़ाई का काम मिल जाता है। गांव की महिलाएं दोना-पत्तल बनाने का भी काम करती हैं। सरपंच श्री माझी बताते हैं कि उनकी पंचायत में तीन प्राथमिक और दो माध्यमिक शालाएं तथा पांच आंगनबाड़ियां हैं। स्कूल शिक्षा और महिला एवं बाल विकास विभाग की योजनाएं इनके जरिए बच्चों तक बखूबी पहुंचाई जा रही हैं।