प्रेस रिलीज़

Date
Month
Year
District
Place
Photo Category


Previous12345...1617Next
पंच-सरपंचों ने किया रायपुर एवं नया रायपुर का भ्रमण

पंच-सरपंचों ने किया रायपुर एवं नया रायपुर का भ्रमण

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत राज्य के चार जिलों से आए 441 पंचायत प्रतिनिधियों ने रायपुर और नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण किया। हमर छत्तीसगढ़ योजना में मुंगेली के 131, बलौदाबाजार-भाटापारा के 120, बलरामपुर-रामानुजगंज के 98 और रायगढ़ के 92 पंच-सरपंच दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर राजधानी आए हुए हैं। पंच-सरपंचों ने जंगल सफारी की सैर कर वहां वन्य जीवों को स्वच्छन्द माहौल में विचरते देखा। पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो के जरिए वे प्रदेश की पौराणिक, पुरातात्विक एवं सांस्कृतिक वैभव से परिचित हुए। शो में उन्हें छत्तीसगढ़ के पृथक राज्य बनने के बाद से अब तक के विकास की कहानी और सरकार की विभिन्न योजनाओं की भी जानकारी दी गई। पंचायत प्रतिनिधियों ने नया रायपुर स्थित मंत्रालय (महानदी भवन) का भ्रमण कर प्रशासनिक काम-काज के बारे में जाना-समझा। उन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा में संसदीय प्रणाली, सदन की व्यवस्था और सत्र संचालन के बारे में जानकारी ली। पंच-सरपंचों को कृषि विश्वविद्यालय में आधुनिक खेती, उन्नत बीज, उर्वरकों के उपयोग, मिट्टी परीक्षण एवं नवीन कृषि यंत्रों के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने साइंस सेंटर में विज्ञान के विभिन्न चमत्कारों और अनुप्रयोगों को समझा। उन्होंने शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम भी देखा। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में पंचायत प्रतिनिधियों के लिए दोनों दिन विभिन्न प्रशिक्षण सत्रों एवं सामूहिक चर्चा का आयोजन किया गया।

विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने मिले पंचायत प्रतिनिधि

विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने मिले पंचायत प्रतिनिधि

छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल से बलौदाबाजार-भाटापारा के पंचायत प्रतिनिधियों ने विधानसभा में सौजन्य मुलाकात की। राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत जिले के 120 पंच-सरपंच दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर रायपुर आए हुए हैं। विधानसभा अध्यक्ष श्री अग्रवाल ने उन्हें स्वयं संसदीय व्यवस्था एवं विधानसभा की कार्यप्रणाली के बारे में विस्तार से जानकारी दी। पंचायत प्रतिनिधियों ने परिसर में विधानसभा का सदन, सेंट्रल हॉल, पुस्तकालय, समिति कक्ष एवं प्रेक्षागृह देखा। इस दौरान विधानसभा के सचिव श्री चन्द्र शेखर गंगराड़े और अपर सचिव डॉ. सत्येन्द्र तिवारी भी मौजूद थे। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने पंचायत प्रतिनिधियों को हमर छत्तीसगढ़ योजना के उद्देश्यों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि यह गांवों के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों के अध्ययन और सशक्तिकरण की अनूठी योजना है। रायपुर और नया रायपुर का भ्रमण कर पंच-सरपंच अपनी पंचायतों में और भी बेहतर काम करने को प्रेरित होते हैं। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों से अपील की कि वे सरकार की योजनाओं और कल्याणकारी कार्यक्रमों का लाभ अधिक से अधिक व्यक्तियों तक पहुंचाएं।

पंचायत प्रतिनिधियों को दी गई कानून की जानकारी

पंचायत प्रतिनिधियों को दी गई कानून की जानकारी

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में पंच-सरपंचों को विभिन्न कानूनों की जानकारी दी गई। आवासीय परिसर में पंचायत प्रतिनिधियों के लिए आयोजित प्रशिक्षण सत्र में सरकार की विभिन्न योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया गया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर पांच जिलों रायपुर, महासमुंद, कांकेर, जशपुर और सूरजपुर के 424 पंचायत प्रतिनिधि राजधानी रायपुर आए हुए थे। प्रशिक्षण सत्र में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के विकास विस्तार अधिकारी श्री जे.के मिश्रा ने पंच-सरपंचों को छत्तीसगढ़ सरकार की अनेक योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने जनप्रतिनिधियों को गांव को साफ-सुथरा और सुंदर बनाने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान पंचायत प्रतिनिधियों ने अपने अध्ययन भ्रमण के अनुभव भी साझा किए। रायपुर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को सरकार द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाले निःशुल्क कानूनी मदद की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बहुत से मामले ऐसे होते हैं जिनका निपटारा आपसी समझौते से किया जा सकता है। जो लोग आर्थिक अभाव के चलते अदालत तक नहीं पहुंच पाते हैं उनके लिए शासन द्वारा विधिक सहायता क्लिनिक की व्यवस्था की गई है। श्री खान ने लोक अदालत, टोनही प्रताड़ना निवारण, मानसिक रोगियों की देखभाल, नशा उन्मूलन, बालकों के हित संरक्षण, मानव तस्करी एवं आदिवासियों के अधिकारों के संरक्षण जैसे कानूनों की जानकारी देकर पंचायत प्रतिनिधियों को जागरूक किया।

अलग-अलग जिलों के पंच-सरपंचों ने एक-दूसरे से साझा की  विकास की कहानी

अलग-अलग जिलों के पंच-सरपंचों ने एक-दूसरे से साझा की विकास की कहानी

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत अध्ययन प्रवास पर राजधानी पहुंचे पंचायत प्रतिनिधियों ने अपने-अपने गांव के विकास की कहानी एक-दूसरे से साझा की। योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में आयोजित समूह चर्चा में पांच जिलों से आए पंच-सरपंचों ने उत्साह से भाग लिया। उन्होंने अपनी पंचायतों में चल रहे विकास कार्यों और योजनाओं के क्रियान्वयन के अनुभव दूसरे जिलों के प्रतिनिधियों से साझा किए। दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर रायपुर, महासमुंद, कांकेर, जशपुर और सूरजपुर के 424 पंचायत प्रतिनिधि रायपुर आए हुए हैं। समूह चर्चा में पांचों जिलों के पंच-सरपंचो को शासन की अनेक योजनाओं की जानकारी भी दी गई। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के विकास विस्तार अधिकारी श्री जे.के. मिश्रा एवं सहायक विकास विस्तार अधिकारी श्री उदय राम कामड़े ने उन्हें केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के बारे में बताया। अभनपुर के विकासखण्ड परियोजना अधिकारी श्री पवन कुमार गुरुपंच ने गांवों के विकास में साक्षरता के महत्व को रेखांकित किया। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों से कहा कि साक्षर होने का मतलब सिर्फ दस्तखत करना आना नहीं है। हमें अपनी सामजिक व्यवस्था को समझकर उनकी कमियों और बुराइयों को दूर करना होगा। श्री गुरूपंच ने कहा कि शिक्षित समाज तेजी से आगे बढ़ता है।

पंचायत प्रतिनिधियों ने किया कृषि विश्वविद्यालय, मंत्रालय,  क्रिकेट स्टेडियम, चंपारण और मुक्तांगन का भ्रमण

पंचायत प्रतिनिधियों ने किया कृषि विश्वविद्यालय, मंत्रालय, क्रिकेट स्टेडियम, चंपारण और मुक्तांगन का भ्रमण

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर आए पांच जिलों के पंचायत प्रतिनिधियों ने आज यहां नया रायपुर में मंत्रालय (महानदी भवन), शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखा। उन्होंने रायपुर के इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय का भी भ्रमण किया। पंच-सरपंचों ने महाप्रभु वल्लभाचार्य की जन्मस्थली चंपारण भी देखा। वे पुरखौती मुक्तांगन में शाम को लाइट एंड साउंड शो के जरिए छत्तीसगढ़ की पौराणिक, पुरातात्विक और सांस्कृतिक विरासत से परिचित हुए। शो में वे प्रदेश के विकास के सफर और शासन की योजनाओं से भी र-ब-रू हुए। हमर छत्तीसगढ़ योजना में दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर पांच जिलों के 424 पंचायत प्रतिनिधि आए हुए हैं। इनमें सूरजपुर के 148, कांकेर के 121, जशपुर के 86, महासमुंद के 37 एवं रायपुर के 32 पंच-सरपंच शामिल हैं। सरकार की योजनाओं की जानकारी देने एवं पंचायतों में हो रहे विकास कार्यों के अनुभव एक-दूसरे से साझा करने के लिए योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में पंचायत प्रतिनिधियों के लिए समूह चर्चा का आयोजन किया गया। वे अध्ययन प्रवास के दूसरे दिन 17 अप्रैल को जंगल सफारी, छत्तीसगढ़ विधानसभा, साइंस सेंटर एवं स्वामी विवेकानंद विमानतल का भ्रमण करेंगे।

सारंगढ़ की विधायक श्रीमती केराबाई मनहर ने पंचायत प्रतिनिधियों  के साथ देखा जंगल सफारी

सारंगढ़ की विधायक श्रीमती केराबाई मनहर ने पंचायत प्रतिनिधियों के साथ देखा जंगल सफारी

आवासीय परिसर में मिली पंच-सरपंचों से सारंगढ़ की विधायक श्रीमती केराबाई मनहर ने रायगढ़ के पंचायत प्रतिनिधियों के साथ नया रायपुर के जंगल सफारी का भ्रमण किया। वे पंच-सरपंचों के साथ बैटरीचलित वाहन में बैठीं और सफारी में खुले में विचरण करते वन्य जीवों को देखा। हमर छत्तीसगढ़ योजना में रायगढ़ जिले के 162 पंचायत प्रतिनिधि दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर राजधानी रायपुर आए थे। सारंगढ़ की विधायक श्रीमती केराबाई मनहर रायगढ़ जिले के पंचायत प्रतिनिधियों से मिलने हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान भी पहुंची। यहां वे समूह चर्चा में शामिल हुईं और पंच-सरपंचों को सरकार की अनेक योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने सरस्वती सायकल योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना तथा मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना जैसी योजनाओं का जिक्र करते हुए इन योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक पात्र लोगों तक पहुंचाने कहा। उन्होंने उम्मीद जताई कि राजधानी के अध्ययन भ्रमण के बाद पंचायत प्रतिनिधि अपने गांव में और बेहतर काम करने को प्रेरित होंगे।

योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाकर जनता की उम्मीदों पर खरे उतरें पंच-सरपंच – श्री दयालदास बघेल सहकारिता मंत्री ने पंच-सरपंचों को दिखाया जंगल सफारी,

योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाकर जनता की उम्मीदों पर खरे उतरें पंच-सरपंच – श्री दयालदास बघेल सहकारिता मंत्री ने पंच-सरपंचों को दिखाया जंगल सफारी,

विधानसभा तथा लाइट एंड साउंड शो छत्तीसगढ़ के सहकारिता, संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री श्री दयालदास बघेल ने कहा है कि निर्वाचित पंच-सरपंच सरकार की योजनाओं को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाएं। शासन की विकास और कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों को दिला कर वे गांववालों की उम्मीदों पर खरा उतर सकते हैं जिन्होंने उन्हें गांव का नेतृत्व सौंपा है। संस्कृति और पर्यटन मंत्री श्री बघेल ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत अध्ययन भ्रमण पर आए बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए इस आशय के विचार यहां योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में व्यक्त किए। उन्होंने दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर आए पंच-सरपंचों को जंगल सफारी का भ्रमण कराया और विधानसभा दिखाया। श्री बघेल ने पंचायत प्रतिनिधियों के साथ बैठकर पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो देखा। बेमेतरा जिले के 90 पंच-सरपंच राजधानी के अध्ययन प्रवास पर आए हुए थे। सहकारिता मंत्री श्री दयालदास बघेल ने विधानसभा में बेमेतरा और धमतरी जिले के पंच-सरपंचों को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि सरकार आम जनता की सुख-सुविधाओं का ख्याल रख रही है। प्रधानमंत्री आवास योजना में आज लोगों को पक्के मकान मिल रहे हैं। स्वच्छ भारत मिशन के तहत घर-घर में शौचालय बन रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में गरीबों को रसोई गैस और चूल्हा मिल रहा है। सरस्वती सायकल योजना के अंतर्गत हमारी बेटियों को साइकिल मिल रही है। स्मार्ट कार्ड के जरिए सभी लोगों का हर साल 50 हजार रूपए तक का निःशुल्क इलाज हो रहा है। श्री बघेल ने पंचायत प्रतिनिधियों से अपील की कि वे शासन की योजनाओं का पूरा लाभ लोगों तक पहुंचाएं। उन्होंने पंच-सरपंचों को हमर छत्तीसगढ़ योजना के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि सरकार ने आपको प्रदेश में पिछले 15 वर्षों में हुए विकास को देखने के लिए बुलाया है। अध्ययन भ्रमण के दौरान आप लोगों को शासन की योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी मिलेगी। मंत्रालय एवं विधानसभा के भ्रमण से प्रशासकीय एवं संसदीय प्रक्रियाओं के बारे में आप लोगों की समझ बढ़ेगी। श्री बघेल ने पंचायत प्रतिनिधियों को विधानसभा की कार्यवाहियों एवं व्यवस्था के बारे में खुद विस्तार से जानकारी दी।

 बिलासपुर, रायगढ़, मुंगेली, बलौदाबाजार और महासमुंद के  500 से अधिक पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर

बिलासपुर, रायगढ़, मुंगेली, बलौदाबाजार और महासमुंद के 500 से अधिक पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर

राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत पांच जिलों के 509 पंच-सरपंच इन दिनों राजधानी के अध्ययन प्रवास पर हैं। इनमें रायगढ़ के 162, मुंगेली के 126, बलौदाबाजार-भाटापारा के 107, बिलासपुर के 66 और महासमुंद के 48 पंचायत प्रतिनिधि शामिल हैं। पंच-सरपंचों ने दो दिनों की अध्ययन यात्रा के दौरान जंगल सफारी, विधानसभा, मंत्रालय, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, पुरखौती मुक्तांगन, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, स्वामी विवेकानंद विमानतल एवं चंपारण का भ्रमण किया। पंचायत प्रतिनिधियों के लिए हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में विभिन्न प्रशिक्षण सत्रों एवं सामूहिक चर्चा का आयोजन किया गया। इसमें पंचायत प्रतिनिधियों ने अपने-अपने गांवों में विकास योजनाओं के क्रियान्वयन के अनुभव एक-दूसरे से साझा किए। उन्हें लाइट एंड साउंड शो, छायाचित्र प्रदर्शनी तथा विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के माध्यम से सरकार की योजनाओं और उनके प्रभावी क्रियान्वयन के बारे में जागरूक भी किया गया।

छत्तीसगढ़ के विकास के सफर और योजनाओं से  रू-ब-रू हुए पांच जिलों के पंचायत प्रतिनिधि

छत्तीसगढ़ के विकास के सफर और योजनाओं से रू-ब-रू हुए पांच जिलों के पंचायत प्रतिनिधि

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर राजधानी आए बस्तर, सरगुजा, कोरबा, कबीरधाम और गरियाबंद के पंच-सरपंचों ने रायपुर एवं नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण किया। पांचों जिलों से कुल 518 पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर आए हुए हैं। सरगुजा के 135, कोरबा के 117, कबीरधाम के 104, बस्तर के 101 और गरियाबंद के 61 पंच-सरपंच अध्ययन यात्रा पर रायपुर पहुंचे हैं। पंच-सरपंचों ने नन्दन वन जंगल सफारी में बैटरीचलित वाहन में सैर किया और वन्य जीवों को स्वच्छंद विचरण करते देखा। उन्होंने नया रायपुर स्थित मंत्रालय (महानदी भवन) का भ्रमण कर प्रशासनिक काम-काज के बारे में जाना-समझा। पंचायत प्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ विधानसभा में संसदीय प्रणाली, सदन की व्यवस्था और सत्र संचालन के बारे में जानकारी ली। कृषि विश्वविद्यालय में आधुनिक खेती, उन्नत बीज, उर्वरकों के उपयोग, मिट्टी परीक्षण एवं नवीन कृषि यंत्रों के बारे में उन्हें जानकारी दी गई। अध्ययन प्रवास के दौरान पंच-सरपंचों ने शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, स्वामी विवेकानंद विमानतल और चंपारण का भी भ्रमण किया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में उनके लिए दोनों दिन विभिन्न प्रशिक्षण सत्रों एवं सामूहिक चर्चा का आयोजन किया गया। इसमें पंचायत प्रतिनिधियों ने अपने-अपने गांवों में विकास योजनाओं के क्रियान्वयन के अनुभव एक-दूसरे से साझा किए। पंच-सरपंचों को विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के माध्यम से सरकार की योजनाओं और उनके प्रभावी क्रियान्वयन के बारे में जागरूक भी किया।

प्रयास विद्यालय के बच्चों ने किया हमर छत्तीसगढ़ परिसर का भ्रमण

प्रयास विद्यालय के बच्चों ने किया हमर छत्तीसगढ़ परिसर का भ्रमण

शैक्षणिक भ्रमण पर राजधानी रायपुर आए प्रयास आवासीय विद्यालय कांकेर के 60 बच्चों ने आज दोपहर नया रायपुर के उपरवारा में हमर छत्तीसगढ़ योजना का आवासीय परिसर देखा। इस दौरान उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों के अध्ययन प्रवास के लिए यहां की गई विभिन्न व्यवस्थाओं का अवलोकन किया। कक्षा नवमीं में अध्ययनरत इन छात्र-छात्राओं ने आवासीय परिसर में पंच-सरपंचों के पंजीयन, प्रशिक्षण, आवास, भोजन एवं मनोरंजन के इंतजामों को देखा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के विकास विस्तार अधिकारी श्री जे.के. मिश्रा ने उन्हें योजना की खासियतों एवं उद्देश्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। विद्यार्थियों ने यहां जनसंपर्क विभाग द्वारा लगाई गई विशाल छायाचित्र प्रदर्शनी एवं स्वच्छ भारत मिशन प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्होंने होलोग्राफिक थिएटर में पंचायत प्रतिनिधियों के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का संदेश रमन के बात हमर मन के साथ भी देखा-सुना। आवासीय परिसर के भ्रमण के बाद बच्चों ने कहा कि यहां आकर उन्हें कई नई जानकारियां मिली हैं। छायाचित्र प्रदर्शनी देखकर उन्हें राज्य की प्रमुख योजनाओं, उपलब्धियों और छत्तीसगढ़ की अनेक विशेषताओं के बारे में जानकारी मिली। यहां का भ्रमण उनका सामान्य ज्ञान बढ़ाने में बहुत मददगार रहा।

सहकारिता मंत्री ने पंच-सरपंचों को दिखाया जंगल सफारी,  विधानसभा तथा लाइट एंड साउंड शो

सहकारिता मंत्री ने पंच-सरपंचों को दिखाया जंगल सफारी, विधानसभा तथा लाइट एंड साउंड शो

छत्तीसगढ़ के सहकारिता, संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री श्री दयालदास बघेल ने कहा है कि निर्वाचित पंच-सरपंच सरकार की योजनाओं को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाएं। शासन की विकास और कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों को दिला कर वे गांववालों की उम्मीदों पर खरा उतर सकते हैं जिन्होंने उन्हें गांव का नेतृत्व सौंपा है। संस्कृति और पर्यटन मंत्री श्री बघेल ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत अध्ययन भ्रमण पर आए बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए इस आशय के विचार यहां योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में व्यक्त किए। उन्होंने दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर आए पंच-सरपंचों को जंगल सफारी का भ्रमण कराया और विधानसभा दिखाया। श्री बघेल ने पंचायत प्रतिनिधियों के साथ बैठकर पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो देखा। बेमेतरा जिले के 90 पंच-सरपंच राजधानी के अध्ययन प्रवास पर आए हुए थे। सहकारिता मंत्री श्री दयालदास बघेल ने विधानसभा में बेमेतरा और धमतरी जिले के पंच-सरपंचों को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि सरकार आम जनता की सुख-सुविधाओं का ख्याल रख रही है। प्रधानमंत्री आवास योजना में आज लोगों को पक्के मकान मिल रहे हैं। स्वच्छ भारत मिशन के तहत घर-घर में शौचालय बन रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में गरीबों को रसोई गैस और चूल्हा मिल रहा है। सरस्वती सायकल योजना के अंतर्गत हमारी बेटियों को साइकिल मिल रही है। स्मार्ट कार्ड के जरिए सभी लोगों का हर साल 50 हजार रूपए तक का निःशुल्क इलाज हो रहा है। श्री बघेल ने पंचायत प्रतिनिधियों से अपील की कि वे शासन की योजनाओं का पूरा लाभ लोगों तक पहुंचाएं। उन्होंने पंच-सरपंचों को हमर छत्तीसगढ़ योजना के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि सरकार ने आपको प्रदेश में पिछले 15 वर्षों में हुए विकास को देखने के लिए बुलाया है। अध्ययन भ्रमण के दौरान आप लोगों को शासन की योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी मिलेगी। मंत्रालय एवं विधानसभा के भ्रमण से प्रशासकीय एवं संसदीय प्रक्रियाओं के बारे में आप लोगों की समझ बढ़ेगी। श्री बघेल ने पंचायत प्रतिनिधियों को विधानसभा की कार्यवाहियों एवं व्यवस्था के बारे में खुद विस्तार से जानकारी दी।

जिम्मेदारियों और कर्तव्यों का निर्वहन करके क्षेत्रवासियों की अपेक्षाओं में खरा उतरना है – श्री दयालदास बघेल

जिम्मेदारियों और कर्तव्यों का निर्वहन करके क्षेत्रवासियों की अपेक्षाओं में खरा उतरना है – श्री दयालदास बघेल

धमतरी और बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधि मिले सहकारिता, संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री से. हमर छत्तीसगढ़ योजना के अध्यन भ्रमण की एक महत्वपूर्ण कड़ी छत्तीसगढ़ विधानसभा सभी पंचायत जनप्रतिनिधियों के लिए नयी उमंगें और नेत्रित्व की भावना जागृत करती है. यहाँ आकर प्रतिनिधि प्रदेश की सबसे बड़ी पंचायत की कार्य-व्यवस्था को करीब से देखते और समझते हैं. यहाँ सीखी बातें उन्हें उनके क्षेत्रों में विकासव्यापी कार्य करते रहने का प्रोत्साहन भी प्रदान करती हैं. धमतरी और बेमेतरा जिलों के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने आज विधानसभा भ्रमण करके सहकारिता, संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री श्री दयालदास बघेल से मुलाक़ात की और हमर छत्तीसगढ़ योजना की विस्तृत जानकारी हासिल की. मंत्री श्री बघेल ने सभी जनप्रतिनिधियों का स्वागत किया, योजना का उद्देश्य और लक्ष्य बताया. जनप्रतिनिधियों ने योजना के अंतर्गत कल शाम नया रायपुर स्तिथ पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो देखा, उस पर उनसे प्रतिक्रियाएं लीं. उन्होंने जनप्रतिनिधियों को सरकार की लाभकारी योजनाओं की विस्तृत जानकारी प्रदान की. प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना आदि का लाभ उठाने कहा. उन्होंने बताया की सारी योजनाओं को प्रदेश के सभी जिलों के सभी कोनों तक जनप्रतिनिधियों के माध्यम से पहुँचाना है. विशेष तौर पर हर पंचायत के गरीब परिवारों तक इन योजनाओं के ज़रिये विकास पहुँचाना है. उन्होंने सभी को अपनी-अपनी पंचायतों में अच्छा और पहले से बेहतर कार्य करते रहने की प्रेरणा दी. उन्होंने बताया की पांच वर्ष के लिए मिले पंचायत पदों में जिम्मेदारियों और कर्तव्यों का निर्वहन करके क्षेत्रवासियों की अपेक्षाओं में खरा उतरना है. इसके अलावा मंत्री श्री बघेल ने सभी जनप्रतिनिधियों को विधानसभा सत्र की कार्य-प्रणाली समझाई.

पहली बार देखा भव्य क्रिकेट स्टेडियम  रायगढ़, मुंगेली, बिलासपुर और महासमुंद के 500 पंच-सरपंच

पहली बार देखा भव्य क्रिकेट स्टेडियम रायगढ़, मुंगेली, बिलासपुर और महासमुंद के 500 पंच-सरपंच

राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर राजधानी रायपुर आए रायगढ़, मुंगेली, बिलासपुर और महासमुंद जिले के विभिन्न पंचायतों के प्रतिनिधियों ने नया रायपुर का शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम देखा। चारों जिलों से लगभग 500 पंच-सरपंच अध्ययन प्रवास पर रायपुर आए हुए हैं। इनमें से अधिकांश पंच-सरपंच पहली बार नया रायपुर आए हैं। यहां का भव्य स्टेडियम देखकर वे बहुत खुश और रोमांचित हुए। जिस स्टेडियम को वे अब तक टेलीविजन और तस्वीरों में देखते आए थे, उसे प्रत्यक्षतः देखना उनके लिए अनूठा अनुभव था। दो दिनों के अध्ययन प्रवास के दौरान पंचायत प्रतिनिधियों ने रायपुर और नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण किया। इनमें छत्तीसगढ़ विधानसभा, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, मंत्रालय, जंगल सफारी, पुरखौती मुक्तांगन और चंपारण शामिल हैं। पंच-सरपंच हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में जनसंपर्क विभाग द्वारा लगाई गई विशाल छायाचित्र प्रदर्शनी के जरिए छत्तीसगढ़ में पिछले डेढ़ दशक में हुए विकास कार्यों, सरकार की प्रमुख योजनाओं एवं प्रदेश की उपलब्धियों से रू-ब-रू हुए। पंचायत प्रतिनिधियों ने पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो के माध्यम से छत्तीसगढ़ के इतिहास, पुरातत्व, संस्कृति और राज्य के विकास के सफर की झलकियां देखी। उन्हें कृषि विश्वविद्यालय में खेती की आधुनिक तकनीकों सहित मृदा स्वास्थ्य, संकर बीज, फलों एवं फूलों की खेती तथा पशुपालन के बारे में जानकारी दी गई।

मुख्यमंत्री ने की पंचायत प्रतिनिधियों से मुलाक़ात....

मुख्यमंत्री ने की पंचायत प्रतिनिधियों से मुलाक़ात....

हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत दो दिवसीय अध्ययन प्रवास पर आए महासमुंद, मुंगेली, बिलासपुर एवं रायगढ़ जिलों के पंचायत प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमण सिंह जी से मुलाक़ात की। सभी पंचायत प्रतिनिधि उनसे मिलने उनके निवास स्थान गए| लोरमी विधायक श्री तोखन लाल साहू ने मुख्यमंत्री निवास में उपस्थित समस्त पंचायत प्रतिनिधयों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि 14 वर्ष के विकास को जनप्रतिनिधि महसूस कर रहे हैं। इसके पश्चात श्री साहू ने पंच सरपंचों को विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी जिसमें मुख्यमंत्री खाद्यान्न योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री उज्वला योजना आदि प्रमुख हैं| डॉ रमन सिंह जी ने जिला महासमुंद, मुंगेली, बिलासपुर एवं रायगढ़ जिलों से आए 498 जनप्रतिनिधयों का मुख्यमंत्री निवास स्वागत किया साथ ही योजना में आने के लिए धन्यवाद दिया। डॉ. रमन सिंह जी ने अपने उद्धबोधन में कहा कि "हमर छत्तीसगढ़ योजना व्यापक हो चुकी है इसमें अब तक लगभग 1लाख 36 हजार जनप्रतिनिधि शामिल हो चुके हैं। ऐसी किसी योजना की सुरुआत करने वाला छत्तीसगढ़पहला राज्य है इस योजना में राष्ट्रपति से लेकर विभिन्न राज्यों के मंत्री तक इस योजना में आ चुके हैं| हमर छत्तीसगढ़ योजना अध्य्यन भ्रमण में दो दिन में रायपुर के विकास को देखते हैं जिसमे मंत्रलाय, विधानसभा, जंगल सफारी, पुरखौती मुक्तागन, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम देखते हैं । हमर छत्तीसगढ़ योजना से पहले कई पंचायत प्रतिनिधियों ने अब तक रायपुर नहीं देखा था लेकिन हमर छत्तीसगढ़ योजना में आकर नया रायपुर का विकास देख रहे हैं| उन्हें छत्तीसगढ़ के विकास को जानने का अवसर मिल रहा है। जनप्रतिनिधियो को कार्य अवधि के बाद शासन की योजनाओ की जानकारियों नही रहती है लेकिन हमर छत्तीसगढ़ योजना में आकर योजना के अलावा विकसित रायपुर को देखने के साथ ही बोली भाषा संस्कृति को बेहतर ढंग से जानने का अवसर मिल रहा है। ऐसे अनुभव से जनप्रतिनिधियों की जानकारी बढ़ेगी एवं आपस में बैठने से योजनाओं का आदान-प्रदान होगा 2 दिन की योजना में जनप्रतिनिधि सब कुछ भूल कर हमर छत्तीसगढ़ योजना के हो जाते हैं|" डॉ. रमन सिंह जी ने पंचायत प्रतिनिधियों को आगे बताया कि वर्तमान में विधायक कई ऐसे नेता हैं जो पूर्व में पंच या सरपंच रहे थे| अतः आप सब भी पंच- सरपंच तक सिमित न रह कर विधायक का चुनाव लड़कर यहाँ आयें| उन्होंने फलदार वृक्ष लगाने के लिए जनप्रतिनिधियों को प्रेरित किया| कार्यक्रम में प्रभारी अधिकारी श्री अजय श्रीवास्तव, विकास विस्तार अधिकारी श्री जयंत मिश्रा, सहायक विकास विस्तार अधिकारी श्री उदयराम कामड़े उपस्थित रहे।

विधिक सहायता क्लिनिक के जरिए पंचायत प्रतिनिधियों को  निःशुल्क कानूनी मदद

विधिक सहायता क्लिनिक के जरिए पंचायत प्रतिनिधियों को निःशुल्क कानूनी मदद

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर में पिछले आठ महीनों से संचालित है विधिक सहायता क्लिनिक रायपुर. 02 अप्रैल 2018. हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में स्थापित विधिक सहायता क्लिनिक से पंचायत प्रतिनिधियों को निःशुल्क कानूनी सलाह एवं मदद मिल रही हैं। योजना के तहत अध्ययन भ्रमण पर आने वाले पंच-सरपंचों को उनकी पंचायत से जुड़े या निजी मामलों पर आवासीय परिसर में संचालित विधिक सहायता क्लिनिक में निःशुल्क मार्गदर्शन दिया जाता है। रायपुर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान उन्हें शासन द्वारा मुहैया कराई जाने वाली निःशुल्क विधिक सेवाओं के बारे में बताते हैं। अध्ययन भ्रमण पर राजधानी रायपुर आए बिलासपुर, रायगढ़, मुंगेली और महासमुंद जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने आज यहां आवासीय परिसर के विधिक सहायता क्लिनिक में विभिन्न कानूनी मसलों पर सलाह-मशविरा किया। अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान ने पंचायत प्रतिनिधियों एवं उनके परिवार से संबंधित घरेलू हिंसा, भरण पोषण, मोटर दुर्घटना दावा, जमीन नामांतरण, पेंशन, अनुकम्पा नियुक्ति, जाति प्रमाण पत्र तथा आबादी भूमि पात्रता संबंधी अनेक मसलों पर निःशुल्क सलाह एवं मार्गदर्शन दिया। श्री खान ने उन्हें जानकारी दी कि वे स्थानीय स्तर पर अपने जिले के जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से संपर्क कर कानूनी सहायता ले सकते हैं। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से उन्हें वकील की निःशुल्क सेवा भी मिल सकती है। पंचायत प्रतिनिधियों को कानूनी मदद उपलब्ध कराने के लिए हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर में पिछले आठ महीनों से विधिक सहायता क्लिनिक संचालित की जा रही है। पंचायत प्रतिनिधि इससे लगातार लाभान्वित हो रहे हैं। आवासीय परिसर में रोज आयोजित होने वाले प्रशिक्षण सत्र में पंच-सरपंचों को विभिन्न कानूनों की जानकारी भी दी जाती है। यहां उन्हें न्याय एवं अपने हक के लिए कानून के इस्तेमाल के लिए जागरूक भी किया जाता है।

राजनांदगांव, धमतरी और रायगढ़ के पंचायत प्रतिनिधि  अध्ययन भ्रमण पर

राजनांदगांव, धमतरी और रायगढ़ के पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत तीन जिलों के 430 पंच-सरपंच अध्ययन भ्रमण पर आज सवेरे राजधानी पहुंचे। इनमें राजनांदगांव के 163, रायगढ़ के 147 और धमतरी के 120 पंचायत प्रतिनिधि शामिल हैं। दो दिनों के अध्ययन प्रवास के दौरान पंचायत प्रतिनिधि रायपुर और नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण करेंगे। इनमें छत्तीसगढ़ विधानसभा, मंत्रालय, जंगल सफारी, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, साइंस सेंटर, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन शामिल हैं। अध्ययन यात्रा के पहले दिन आज पंच-सरपंचों ने जंगल सफारी, मंत्रालय (महानदी भवन), शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण किया। देर शाम उन्होंने मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो देखा। पंचायत प्रतिनिधियों ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में आयोजित स्वास्थ्य शिविर में अपने सेहत की जांच करवाई। आवासीय परिसर में समूह चर्चा के दौरान पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों ने पंच-सरपंचों को सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी भी दी।

पंच-सरपंचों ने कराई बी.पी., शुगर और खून की जांच

पंच-सरपंचों ने कराई बी.पी., शुगर और खून की जांच

राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर आए पंचायत प्रतिनिधियों ने आज यहां अपने ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर, ब्लड ग्रुप और खून की जांच करायी। हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन प्रवास पर आए पंच-सरपंचों के लिए योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में अध्ययन यात्रा पर आए राजनांदगांव, रायगढ़ और धमतरी जिले के पंचायत प्रतिनिधियों के सेहत की जांच की गई। स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों एवं तकनीशियनों ने पंचायत प्रतिनिधियों के ब्लड प्रेशर, ब्लड ग्रुप, ब्लड शुगर एवं हीमोग्लोबिन की जांच की। पंचायत प्रतिनिधियों की जांच कर स्वास्थ्य परीक्षण कॉर्ड बनाए गए। स्वास्थ्य शिविर में चिकित्सा अधिकारी डॉ. राहुल अग्रवाल और डॉ. पवन गौतम, सहायक चिकित्सा अधिकारी सुश्री अर्चना गोहिल, नर्सिंग अधिकारी सुश्री लक्ष्मी साहू, लैब तकनीशियन श्री चेतन साहू एवं श्री विनोद कुमार ने पंचायत प्रतिनिधियों की जांच की।

पंच-सरपंचों को भाया जंगल सफारी  विधानसभा और मंत्रालय में जाना-समझा विधायिका तथा कार्यपालिका के कार्यों को

पंच-सरपंचों को भाया जंगल सफारी विधानसभा और मंत्रालय में जाना-समझा विधायिका तथा कार्यपालिका के कार्यों को

राजधानी रायपुर के अध्ययन भ्रमण पर आए पंचायत प्रतिनिधियों को नया रायपुर के जंगल सफारी ने खासा रोमांचित किया। उन्होंने यहां पहली बार वन्य प्राणियों को खुले में विचरते देखा। बैटरीचलित वाहन में बैठकर उन्होंने बाघ, सिंह और भालू सहित हिरणों की अनेक प्रजातियां देखी। पंच-सरपंच अध्ययन प्रवास के दौरान छत्तीसगढ़ विधानसभा और मंत्रालय का भ्रमण कर विधायिका एवं कार्यपालिका के कार्यों से रू-ब-रू हुए। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने बलौदाबाजार-भाटापारा के पंचायत प्रतिनिधियों को खुद विधानसभा की प्रक्रियाओं और संसदीय व्यवस्था की जानकारी दी। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत तीन जिलों के करीब 500 पंचायत प्रतिनिधि दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर रायपुर आए हैं। इनमें सरगुजा जिले के 242, बलौदाबाजार-भाटापारा के 148 और बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के 97 पंचायत प्रतिनिधि शामिल हैं। पंच-सरपंचों ने रायपुर और नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण कर प्रदेश के विकास को नजदीक से देखा। इस दौरान उन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा, मंत्रालय एवं जंगल सफारी के साथ ही इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन भी देखा। पंच-सरपंचों ने अध्ययन प्रवास के पहले दिन पुरखौती मुक्तांगन में, और दूसरे दिन हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का आनंद लिया। आवासीय परिसर में दोनों दिन प्रशिक्षण एवं सामूहिक चर्चा के जरिए उन्हें सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी दी गई। इस दौरान उन्होंने अपने-अपने गांवों में चल रहे विकास कार्यों और शासन की कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के अनुभव भी साझा किए।

संसद और विधानसभा में जाना चाहते हैं तो  करना पड़ेगा अच्छा काम - श्री गौरीशंकर अग्रवाल

संसद और विधानसभा में जाना चाहते हैं तो करना पड़ेगा अच्छा काम - श्री गौरीशंकर अग्रवाल

विधानसभा अध्यक्ष से मिले बलौदाबाजार के पंचायत प्रतिनिधि छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल से आज यहां विधानसभा में बलौदाबाजार-भाटापारा के पंच-सरपंचों ने सौजन्य मुलाकात की। राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत बलौदाबाजार जिले के 148 पंचायत प्रतिनिधि दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर रायपुर आए हुए हैं। इनमें पलारी विकासखंड के ग्राम पंचायत दतान, गितकेरा, गदहीडीह, मल्लिन, केशला, सीतापार, खपरी, कुसमी, कुकदा, गोडा, ससहा एवं साराडीह के पंच-सरपंच शामिल हैं। पंचायत प्रतिनिधियों ने विधानसभा परिसर में सदन, पुस्तकालय, सेंट्रल हाल और प्रेक्षागृह देखा। इस दौरान विधानसभा के सचिव श्री चन्द्र शेखर गंगराड़े और अपर सचिव डॉ. सत्येन्द्र तिवारी भी मौजूद थे। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने पंच-सरपंचों को खुद संसदीय व्यवस्था एवं विधानसभा की कार्यप्रणाली की जानकारी दी। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों से कहा कि यदि वे अपनी पंचायत एवं क्षेत्र में अच्छा काम करेंगे तो आगे चलकर उन्हें संसद और विधानसभा में भी प्रतिनिधित्व का मौका मिल सकता है। उन्होंने बताया कि 01 जुलाई 2016 से शुरू हुई हमर छत्तीसगढ़ योजना में अब तक करीब एक लाख 35 हजार निर्वाचित जनप्रतिनिधि रायपुर और नया रायपुर का अध्ययन भ्रमण कर चुके हैं। श्री अग्रवाल ने पंच-सरपंचों को विधानसभा के कार्यों, प्रक्रियाओं एवं कार्यवाहियों के बारे में विस्तार से बताया।

हमर छत्तीसगढ़ योजना : पंचायत प्रतिनिधियों ने जाने  सेहतमंद और खुश रहने के नुस्खे

हमर छत्तीसगढ़ योजना : पंचायत प्रतिनिधियों ने जाने सेहतमंद और खुश रहने के नुस्खे

राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर आए पंचायत प्रतिनिधियों ने आज सवेरे हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में योगाभ्यास किया। योग प्रशिक्षकों ने उन्हें स्वस्थ और प्रसन्न रहने के गुर बताए। पंच-सरपंचों को उन्होंने संतुलित खान-पान और दिनचर्या अपनाने कहा। हमर छत्तीसगढ़ योजना में कोरबा के 196 और रायपुर के 68 पंचायत प्रतिनिधि दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर रायपुर आए हुए हैं।

सरगुजा के अधिकारियों-कर्मचारियों ने जाना-समझा  हमर छत्तीसगढ़ योजना को

सरगुजा के अधिकारियों-कर्मचारियों ने जाना-समझा हमर छत्तीसगढ़ योजना को

योजना के आवासीय परिसर का किया भ्रमण सरगुजा संभाग के विभिन्न जिलों में कार्यरत 30 अधिकारियों-कर्मचारियों ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने अध्ययन भ्रमण पर रायपुर आने वाले पंचायत प्रतिनिधियों के आवास, भोजन, प्रशिक्षण एवं प्रदेश के विकास के साथ ही कला और संस्कृति से रू-ब-रू कराने यहां नया रायपुर के उपरवारा स्थित आवासीय परिसर होटल प्रबंधन संस्थान में की गई व्यवस्थाओं को देखा। सरगुजा संभाग के कोरिया, बलरामपुर-रामानुजगंज, सरगुजा, सूरजपुर और जशपुर जिले के जिला एवं तहसील कार्यालयों में पदस्थ यह अधिकारी-कर्मचारी छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी निमोरा में 12 दिनों के प्रशिक्षण पर आए हुए हैं। अधिकारियों और कर्मचारियों के दल ने आवासीय परिसर के होलोग्राफिक थियेटर में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का संदेश ‘रमन के बात, हमर मन के साथ’ देखा। उन्होंने यहां जनसंपर्क विभाग द्वारा लगाई गई विशाल छायाचित्र प्रदर्शनी एवं स्वच्छ भारत मिशन प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। वे हमर छत्तीसगढ़ योजना की खासियतों एवं बारीकियों से भी रू-ब-रू हुए।

हमर छत्तीसगढ़: रायपुर-नया रायपुर के विकास को देखकर प्रभावित हुए पंचायत प्रतिनिधि : अब तक 1.34 लाख प्रतिनिधियों ने किया भ्रमण, जून तक चलेगी योजना

हमर छत्तीसगढ़: रायपुर-नया रायपुर के विकास को देखकर प्रभावित हुए पंचायत प्रतिनिधि : अब तक 1.34 लाख प्रतिनिधियों ने किया भ्रमण, जून तक चलेगी योजना

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत प्रदेश के तीन जिलों-बिलासपुर, राजनांदगांव और कबीरधाम के कुल 514 पंच-सरपंचों ने हाल ही में रायपुर और नया रायपुर का दौरा किया। राजधानी में हो रहे विकास कार्यों को देखकर और यहां कृषि विश्वविद्यालय, जंगल सफारी, विधानसभा, मंत्रालय (महानदी भवन) सहित विभिन्न सरकारी प्रतिष्ठानों को देखकर वे काफी प्रभावित हुए। इनमें बिलासपुर जिले के 162, राजनांदगांव के 192 और कबीरधाम के 160 के पंच-सरपंच शामिल थे। इन्हें मिलाकर हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत अब तक प्रदेश की ग्राम पंचायतों, जनपद पंचायतों, जिला पंचायतों, विभिन्न सहकारी समितियों और नगर पंचायतों के लगभग 1.34 लाख जनप्रतिनिधि रायपुर और नया रायपुर का अध्ययन दौरा कर चुके हैं। यह योजना एक जुलाई 2016 से शुरू हुई थी, जो 30 जून 2018 तक चलेगी। राजधानी के अध्ययन भ्रमण कर पंचायत प्रतिनिधियों ने अपने प्रदेश के विकास पर गर्व किया है और वे इसी के अनुरूप अपने क्षेत्र को बेहतर बनाने के लिए उत्साह से जुड़ रहे हैं। हाल ही में अध्ययन भ्रमण कर लौटेे बिलासपुर जिले के तखतपुर जनपद अंतर्गत ग्राम उसलापुर की सरपंच श्रीमती संतोषी ने नया रायपुर की व्यवस्थित बसाहट देखकर अपने गांव में भी अच्छी सड़क, नाली और प्रकाश व्यवस्था करने का मन बनाया है। उसलापुर सौ फीसदी खुले में शौच से मुक्त गांव हो चुका है। इसी अध्ययन दल में आए भरनी का पंच अजय यादव शहीद वीर नारायण सिंह क्रिकेट स्टेडियम देखकर विस्मित था। उसे यह जानकर आश्चर्य हुआ कि यह देश का दूसरा सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है, जिसकी क्षमता 65 हजार लोगों के बैठने की है। उन्होंने बताया कि हमने अपने पंचायत में मिनी स्टेडियम के लिए जगह आरक्षित कर प्रस्ताव बनाकर भेजा है। अब इसे जल्द स्वीकृति मिले, इसका प्रयास करेंगे। तखतपुर जनपद अध्यक्ष श्रीमती नूरिता प्रदीप कौशिक, राजनांदगांव जिले के सरपंच श्री हिरवानी, श्री यशकुमार ठाकुर आदि भी इस भ्रमण से अत्यंत आनंदित हैं। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत बस्तर, सरगुजा जैसे दूरस्थ इलाकों के भी जनप्रतिनिधि बड़ी संख्या में पहुंचते हैं। प्रदेश के एक लाख 68 हजार 737 निर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों में से करीब 75 प्रतिशत यानि एक लाख 27 हजार 336 प्रतिनिधि इस योजना में रायपुर, नया रायपुर का भ्रमण अब तक कर चुके हैं। जनप्रतिनिधि उपरवारा, नया रायपुर के राज्य होटल प्रबंधन संस्थान में रुकते हैं। वे अपने साथ अपने गांव के मिट्टी और पौधे लाते हैं, जिन्हें यहां के बॉटनीकल गार्डन में रोपा जाता है। वे जंगल सफारी, पुरखौती मुक्तांगन, क्रिकेट स्टेडियम, ऊर्जा पार्क, साइंस सेंटर, मंत्रालय, छत्तीसगढ़ विधानसभा, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय जैसे महत्वपूर्ण स्थानों का भ्रमण करते हैं। आवासीय परिसर में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के संदेश का प्रसारण थ्री डी तकनीक से किया जाता है। इस तकनीक के जरिये आभास होता है कि मुख्यमंत्री स्वयं उपस्थित होकर संवाद कर रहे हैं। इसी तरह से सेंट्रल पार्क स्थित डोम थियेटर में मुख्यमंत्री प्रदेश के विकास योजनाओं पर संदेश देते हैं। भ्रमण दल की सुविधा के लिए छत्तीसगढ़ी के अलावा हिन्दी, गोंडी और हल्बी बोली में भी गाइड्स जानकारी देते हैं। भ्रमण दलों के लिए सुबह योग एवं शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रम रखा जाता है।

योजनाओं के बारे में विस्तार से जाना पंच-सरपंचों ने

योजनाओं के बारे में विस्तार से जाना पंच-सरपंचों ने

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आए पंचायत प्रतिनिधियों को सरकार की योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी गई। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों ने योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में उन्हें शासन की विभिन्न योजनाओं के बारे में बताया। सहायक विकास विस्तार अधिकारी श्री उदय राम कामड़े ने नोनी सुरक्षा योजना, सुकन्या समृद्धि योजना एवं प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के बारे में जानकारी दी। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों को सोशियल मीडिया के उपयोग के बारे में भी बताया। करारोपण अधिकारी श्री राजेन्द्र ठाकुर ने भी पंच-सरपंचों को योजनाओं की जानकारी दी। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत तीन जिलों के करीब 600 पंचायत प्रतिनिधि दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर रायपुर आए हैं। इनमें सूरजपुर के 259, जशपुर के 188 और जांजगीर-चांपा के 139 पंच-सरपंच शामिल हैं। राज्य साक्षरता मिशन के धरसीवा के विकासखंड परियोजना अधिकारी श्री लोकेश कुमार वर्मा ने आवासीय परिसर में समूह चर्चा के दौरान पंचायत प्रतिनिधियों को साक्षरता की जरूरत एवं महत्व की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि साक्षरता का अर्थ केवल पढ़ा-लिखा होना ही नहीं है, बल्कि व्यवहारिक जीवन में ज्ञान का इस्तेमाल है। देश के हर व्यक्ति तक शिक्षा की रोशनी पहुंचाना साक्षरता मिशन का उद्देश्य है।

महानदी भवन का भ्रमण कर पंच-सरपंचों ने जाना  मंत्रालय का काम-काज

महानदी भवन का भ्रमण कर पंच-सरपंचों ने जाना मंत्रालय का काम-काज

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन प्रवास पर आए पंचायत प्रतिनिधियों ने आज दोपहर नया रायपुर में मंत्रालय (महानदी भवन) का भ्रमण कर वहां होने वाले प्रशासकीय कार्यों के बारे में जाना-समझा। पंच-सरपंचों ने यहां मंत्री ब्लॉक, सचिव ब्लॉक, प्रशासनिक ब्लॉक और एंसीलरी ब्लॉक का अवलोकन किया। उन्होंने पांचवे तल पर स्थित मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कार्यालय भी देखा। मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री बी.एस. कुशवाहा ने उन्हें मंत्रालयीन कार्यों और प्रक्रियाओं की जानकारी दी। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत तीन जिलों के 408 पंचायत प्रतिनिधि दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर आज सवेरे रायपुर पहुंचे। इनमें रायगढ़ के 212, बालोद के 154 एवं महासमुंद के 42 पंच-सरपंच शामिल हैं। आज अध्ययन यात्रा के पहले दिन उन्होंने नया रायपुर में मंत्रालय सहित शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखा। रायगढ़ के पंचायत प्रतिनिधियों ने रायपुर के इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय का भी भ्रमण किया। पंचायत प्रतिनिधि योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में छायाचित्र प्रदर्शनी और होलोग्राफिक प्रोजेक्शन, तथा पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो के जरिए छत्तीसगढ़ की उपलब्धियों एवं विकास गाथा से परिचित हुए। उन्होंने आवासीय परिसर में प्रशिक्षण कार्यक्रम तथा समूह चर्चा में भी हिस्सा लिया। प्रशिक्षण सत्र में पंच-सरपंचों को सरकार की अनेक योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी दी गई।

राजनांदगांव, कवर्धा और बिलासपुर के पंचायत प्रतिनिधि  अध्ययन भ्रमण पर

राजनांदगांव, कवर्धा और बिलासपुर के पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर

राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत तीन जिलों के 514 पंच-सरपंच अध्ययन भ्रमण पर आज सवेरे रायपुर पहुंचे। इनमें राजनांदगांव के 192, बिलासपुर के 162 एवं कवर्धा के 160 पंचायत प्रतिनिधि शामिल हैं। पंचायत प्रतिनिधि दो दिनों के अध्ययन प्रवास के दौरान रायपुर और नया रायपुर में छत्तीसगढ़ विधानसभा, साइंस सेंटर, इंदिरा गांधी विश्वविद्यालय, जंगल सफारी, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखेगें। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में उन्हें सरकार की विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी दी जाएगी। अध्ययन यात्रा के पहले दिन आज पंच-सरपंचों ने नया रायपुर में जंगल सफारी, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण किया। वे महाप्रभु वल्लभाचार्य की जन्मस्थली चंपारण भी गए। मुक्तांगन में देर शाम उन्होंने लाइट एंड साउंड शो देखा।

छत्तीसगढ़ की उपलब्धियों, विकास और योजनाओं से रू-ब-रू हुए पंच-सरपंच

छत्तीसगढ़ की उपलब्धियों, विकास और योजनाओं से रू-ब-रू हुए पंच-सरपंच

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत अध्ययन भ्रमण पर आए तीन जिलों के पंचायत प्रतिनिधि प्रदेश की उपलब्धियों, विकास और सरकार की योजनाओं से रू-ब-रू हुए। दो दिनों के अध्ययन प्रवास के दौरान उन्होंने रायपुर और नया रायपुर के अनेक स्थलों का भ्रमण किया। पंच-सरपंचों ने नया रायपुर में जहां जंगल सफारी, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखा, वहीं उन्होंने रायपुर में विधानसभा, साइंस सेंटर और इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय का भ्रमण किया। पंचायत प्रतिनिधियों ने महाप्रभु वल्लभाचार्य की जन्मस्थली चंपारण भी देखा। हमर छत्तीसगढ़ योजना में जांजगीर-चांपा, रायगढ़ और बलौदाबाजार-भाटापारा के 337 पंच-सरपंच अध्ययन भ्रमण पर आए हुए हैं। इनमें रायगढ़ जिले के 159, जांजगीर-चांपा के 102 एवं बलौदाबाजार के 76 पंचायत प्रतिनिधि शामिल हैं। योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में पंचायत प्रतिनिधियों को सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई। उन्होंने पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो का आनंद लिया। पंच-सरपंचों के लिए आवासीय परिसर में सांस्कृतिक संध्या का भी आयोजन किया गया।

पंचायत प्रतिनिधियों ने देखी छत्तीसगढ़ी लोकगीतों और पंथी की प्रस्तुति

पंचायत प्रतिनिधियों ने देखी छत्तीसगढ़ी लोकगीतों और पंथी की प्रस्तुति

छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आए चार जिलों के पंच-सरपंचों ने योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में छत्तीसगढ़ी लोकगीतों और लोकनृत्यों का आनंद लिया। इस दौरान उन्होंने पंथी नृत्य की प्रस्तुति भी देखी। दुर्ग जिले के लहगा (धमधा) के स्वर्गीय लालजी बर्रे स्मृति पंथी पार्टी के कलाकारों ने अपनी रंगारंग प्रस्तुतियों से पंचायत प्रतिनिधियों का मन मोहा। राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत चार जिलों के 623 पंच-सरपंच दो दिवसीय अध्ययन भ्रमण पर रायपुर आए हुए थे। इनमें सरगुजा के 232, बलरामपुर के 156, धमतरी के 154 एवं मुंगेली के 81 पंच-सरपंच शामिल थे।

पंचायत प्रतिनिधियों ने देखा रायपुर और नया रायपुर

पंचायत प्रतिनिधियों ने देखा रायपुर और नया रायपुर

हमर छत्तीसगढ़ योजना में चार जिलों के 623 पंच-सरपंच राजधानी के अध्ययन प्रवास पर हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर राजधानी आए सरगुजा, बलरामपुर-रामानुजगंज, धमतरी और मुंगेली के पंच-सरपंचों ने रायपुर एवं नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण किया। चारों जिलों से 623 पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर आए हुए हैं। इनमें सरगुजा के 232, बलरामपुर के 156, धमतरी के 154 एवं मुंगेली के 81 पंच-सरपंच शामिल हैं। पंचायत प्रतिनिधियों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में दो दिवसीय स्वास्थ्य शिविर आयोजित किया गया। यहां उन्होंने अपने खून, ब्लड प्रेशर और आंखों की जांच कराई। असामान्य ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर वालों को डॉक्टरों ने दवाईयां भी दीं। अध्ययन भ्रमण के दौरान पंच-सरपंचों ने नया रायपुर में जंगल सफारी, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखा। वहीं रायपुर में उन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, साइंस सेंटर और स्वामी विवेकानंद विमानतल का अवलोकन किया। उन्होंने महाप्रभु वल्लभाचार्य की जन्मस्थली चंपारण का भी भ्रमण किया। पंचायत प्रतिनिधि विधानसभा में विधायी प्रक्रियाओं और संसदीय व्यवस्था से रू-ब-रू हुए। उन्हें कृषि विश्वविद्यालय में आधुनिक खेती, उन्नत बीज, उर्वरकों के उपयोग, मिट्टी परीक्षण एवं नवीन कृषि यंत्रों के बारे में जानकारी दी गई। पंच-सरपंच साइंस सेंटर में विज्ञान के विभिन्न चमत्कारों और अनुप्रयोगों से परिचित हुए। पहली बार राजधानी पहुंचे अधिकांश पंचायत प्रतिनिधि जंगल सफारी में वन्य प्राणियों को खुले में विचरते देख खासे रोमांचित हुए। पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय के विभिन्न ब्लॉकों का भ्रमण कर वहां की कार्यप्रणाली और शासन-प्रशासन के कार्यों को समझा। पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो के जरिए उन्हें छत्तीसगढ़ से जुड़े पौराणिक आख्यानों, इतिहास, पुरातत्व, छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण की कहानी एवं अब तक के विकास के सफर के साथ ही शासन की अनेक योजनाओं की जानकारी दी गई। आवासीय परिसर में पंचायत प्रतिनिधियों के लिए दोनों दिन विभिन्न प्रशिक्षण सत्रों एवं सामूहिक चर्चा का आयोजन किया गया। इसमें पंचायत प्रतिनिधियों ने अपने गांवों में विकास योजनाओं के क्रियान्वयन के अनुभव एक-दूसरे से साझा किए। इस दौरान विभागीय अधिकारियों और विषय विशेषज्ञों ने राज्य शासन की योजनाओं के बारे में उन्हें विस्तार से जानकारी दी।

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर में स्वास्थ्य शिविर

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर में स्वास्थ्य शिविर

पंच-सरपंचों ने कराई ब्लड प्रेशर, खून और आंखों की जांच राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर आए पंचायत प्रतिनिधियों के लिए आज हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में स्वास्थ्य शिविर लगाया गया। पंच-सरपंचों ने शिविर में अपने ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर, हीमोग्लोबिन, ब्लड ग्रुप और आंख की जांच करायी। हमर छत्तीसगढ़ योजना में दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर चार जिलों के 623 पंच-सरपंच रायपुर आए हुए हैं। इनमें सरगुजा के 232, बलरामपुर-रामानुजगंज के 156, धमतरी के 154 एवं मुंगेली के 81 पंचायत प्रतिनिधि शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों एवं तकनीशियनों ने पंचायत प्रतिनिधियों के ब्लड प्रेशर, ब्लड ग्रुप, ब्लड शुगर, हीमोग्लोबिन और दोनों आंखों की दृश्य क्षमता की जांच की। पंचायत प्रतिनिधियों की जांच कर स्वास्थ्य परीक्षण कॉर्ड बनाए गए। डॉक्टरों ने जांच के उपरांत असामान्य ब्लड प्रेशर एवं ब्लड शुगर वाले जनप्रतिनिधियों को दवाईयां भी दी। स्वास्थ्य शिविर में चिकित्सा अधिकारी डॉ. शिखा साहू और डॉ. शालीन सूरज, नेत्र सहायक श्री हेमंत देवांगन और श्री ए.के. श्रीवास, लैब तकनीशियन श्री पुरूषोत्तम दुबे, श्री चेतन साहू, श्री खेमराज साहू एवं श्रीमती कीर्ति धृतलहरे ने पंचायत प्रतिनिधियों की जांच की।

संस्कृति मंत्री श्री दयालदास बघेल से मंत्रालय में मिले पंच-सरपंच

संस्कृति मंत्री श्री दयालदास बघेल से मंत्रालय में मिले पंच-सरपंच

पर्यटन एवं सहकारिता मंत्री श्री दयालदास बघेल से हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आए बेमेतरा के पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय में सौजन्य मुलाकात की। योजना के तहत बेमेतरा जिले के 154 प्रतिनिधि अध्ययन प्रवास पर रायपुर आए हुए थे। पंच-सरपंच मंत्रालय भ्रमण के दौरान सहकारिता मंत्री श्री दयालदास बघेल के कार्यालय में पहुंचे और उनसे मुलाकात की। संस्कृति मंत्री श्री दयालदास बघेल ने पंचायत प्रतिनिधियों से उनके अध्ययन भ्रमण के अनुभव जाने। उन्होंने पंच-सरपंचों को हमर छत्तीसगढ़ योजना के उद्देश्यों और खासियतों की जानकारी दी। श्री बघेल ने उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजना और प्रधानमंत्री उज्जवला योजना जैसी अनेक योजनाओं के बारे में बताया। उन्होंने इन योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने कहा। श्री बघेल ने पंचायत प्रतिनिधियों से सरंपच से लेकर अपने मंत्री बनने तक का सफर भी साझा किया। उन्होंने बताया कि सरपंच बनने के बाद आगे उन्हें विधायक और मंत्री बनने का अवसर मिला। उन्होंने कहा कि पंचायतों में अच्छा काम कर जनप्रतिनिधि अपनी पहचान बना सकते हैं और भविष्य में विधानसभा या संसद तक पहुंच सकते हैं। श्री बघेल ने पंच-सरपंचों से गांवों में चल रहे विकास कार्यों की भी जानकारी ली।