प्रेस रिलीज़

Date
Month
Year
District
Place
Photo Category


Previous12345...1819Next
संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा  संगीतमय फव्वारा एवं लेजर शो

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा संगीतमय फव्वारा एवं लेजर शो

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने कल शाम नया रायपुर के राजधानी सरोवर में संगीतमय फव्वारे और लेजर शो का आनंद लिया। दंतेवाड़ा, कोरिया, कोरबा, राजनांदगांव और धमतरी जिले से आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के करीब 500 प्रतिनिधियों ने बेहद कौतुहल से मंत्रालय (महानदी भवन) के नजदीक स्थित राजधानी सरोवर में इस रंगारंग शो का लुत्फ लिया। नई राजधानी अटल नगर के इस नए आकर्षण की शुरुआत इसी साल 26 जून को हुई है। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य 10 जुलाई से लगातार राजधानी रायपुर के अध्ययन भ्रमण पर आ रहे हैं। दंतेवाड़ा, कोरिया, कोरबा, राजनांदगांव और धमतरी जिले के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने दो दिवसीय अध्ययन यात्रा के दौरान जंगल सफारी, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, पुरखौती मुक्तांगन, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय और छत्तीसगढ़ विधानसभा का भ्रमण किया।

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों का अध्ययन भ्रमण

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों का अध्ययन भ्रमण

पहले दिन देखा मंत्रालय, क्रिकेट स्टेडियम और कृषि विश्वविद्यालय हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत अध्ययन भ्रमण पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने आज यहां राजधानी में मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय देखा। योजना के आवासीय परिसर, अटल नगर के होटल प्रबंधन संस्थान में उन्हें समूह चर्चा के दौरान कई शासकीय योजनाओं की जानकारी दी गई। पांच जिलों से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के कुल 476 सदस्य दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर रायपुर पहुंचे हैं। इनमें राजनांदगांव के 146, कोरबा के 108, कोरिया के 85, धमतरी के 79 एवं दंतेवाड़ा के 58 सदस्य शामिल हैं। अध्ययन यात्रा के दूसरे दिन कल 11 सितम्बर को वे जंगल सफारी, छत्तीसगढ़ विज्ञान केन्द्र, विधानसभा और पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण करेंगे। उल्लेखनीय है कि हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत पंचायत प्रतिनिधियों, सहकारिता प्रतिनिधियों और महिला स्वसहायता समूह की पदाधिकारियों के बाद अब वनांचलों में गठित संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को राजधानी का अध्ययन भ्रमण कराया जा रहा है।

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों के  अध्ययन भ्रमण का पहला दिन

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों के अध्ययन भ्रमण का पहला दिन

अटल नगर में देखा जंगल सफारी, मंत्रालय और क्रिकेट स्टेडियम हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन प्रवास पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने आज अटल नगर में जंगल सफारी, मंत्रालय (महानदी भवन) तथा शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का भ्रमण किया। वनांचलों में काम कर रहे संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के पांच जिलों से 482 सदस्य दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर राजधानी रायपुर आए हैं। सदस्यों के अध्ययन प्रवास का आज पहला दिन था। वे अध्ययन भ्रमण के दूसरे दिन कल 08 सितम्बर को छत्तीसगढ़ विधानसभा, साइंस सेंटर, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय एवं पुरखौती मुक्तांगन देखेंगे। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, अटल नगर के होटल प्रबंधन संस्थान में संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को शासकीय योजनाओं की जानकारी दी गई। उन्हें शासन द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाले निःशुल्क विधिक सहायता और रोजमर्रा के जीवन में काम आने वाले विभिन्न कानूनों की जानकारी भी दी गई। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के राजनांदगांव जिले से 137, सरगुजा से 100, गरियाबंद से 88, कांकेर से 83 और रायगढ़ जिले से 74 सदस्य अध्ययन भ्रमण पर रायपुर आए हैं।

संसदीय व्यवस्था और विधानसभा की कार्यप्रणाली को समझा  संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने

संसदीय व्यवस्था और विधानसभा की कार्यप्रणाली को समझा संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने

अध्ययन प्रवास पर राजधानी आए पांच जिलों सुकमा, कांकेर, बिलासपुर, कोरबा और सूरजपुर के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने आज यहां छत्तीसगढ़ विधानसभा, साइंस सेंटर एवं पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण किया। उन्होंने विधानसभा में संसदीय व्यवस्था और वहां की कार्यप्रणाली के बारे में जाना-समझा। विधानसभा के अधिकारियों ने उन्हें विधानसभा की कार्यवाहियों, नियमों, प्रक्रियाओं एवं कार्यों की जानकारी दी। प्रतिनिधियों ने यहां विधानसभा का सदन और प्रेक्षागृह देखा। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने अध्ययन यात्रा के दूसरे दिन आज छत्तीसगढ़ विज्ञान केन्द्र (साइंस सेंटर) का भ्रमण किया। यहां वे विज्ञान के चमत्कारों और अनुप्रयोगों से परिचित हुए। सदस्यों ने अटल नगर में पुरखौती मुक्तांगन भी देखा। यहां वे प्रदेश के लोकजीवन, संस्कृति और कला से रू-ब-रू हुए। सुकमा जिले के प्रतिनिधियों को यहां राजधानी में ‘आमचो बस्तर’ देखकर सुखद आश्चर्य एवं अपनेपन का अहसास हुआ। अध्ययन प्रवास के दोनों दिन संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर अटल नगर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में समूह चर्चा एवं प्रशिक्षण में हिस्सा लिया। योग प्रशिक्षक की देखरेख में सवेरे उन्होंने योगाभ्यास किया। प्रवास के पहले दिन उन्होंने शाम को राजधानी सरोवर में संगीतमय रंगीन फव्वारों का नजारा देखा। हमर छत्तीसगढ़ योजना में पांच जिलों से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 560 सदस्य अध्ययन यात्रा पर रायपुर आए हैं।

संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने जाना  सेहतमंद और खुश रहने का नुस्खा

संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने जाना सेहतमंद और खुश रहने का नुस्खा

राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने आज सवेरे हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, अटल नगर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में योगाभ्यास किया। योग प्रशिक्षकों ने उन्हें स्वस्थ और प्रसन्न रहने के गुर बताए। सदस्यों को उन्होंने संतुलित खान-पान और दिनचर्या अपनाने कहा। हमर छत्तीसगढ़ योजना में पांच जिलों बस्तर, महासमुंद, जांजगीर-चांपा, जशपुर और बलरामपुर-रामानुजगंज से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के साढ़े छह सौ सदस्य दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर इन दिनों रायपुर आए हुए हैं।

प्रशासन अकादमी में प्रशिक्षणरत अधिकारियों ने देखा  हमर छत्तीसगढ़ योजना का आवासीय परिसर

प्रशासन अकादमी में प्रशिक्षणरत अधिकारियों ने देखा हमर छत्तीसगढ़ योजना का आवासीय परिसर

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित विभिन्न विभागों के 31 अधिकारियों ने आज दोपहर हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने अध्ययन भ्रमण पर राजधानी आने वाले जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों के आवास, भोजन, पंजीयन एवं प्रशिक्षण के लिए यहां अटल नगर के उपरवारा स्थित आवासीय परिसर होटल प्रबंधन संस्थान में की गई व्यवस्थाओं को देखा। हमर छत्तीसगढ़ योजना के प्रभारी अधिकारी श्री दिनेश अग्रवाल ने प्रशिक्षु अधिकारियों को योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। प्रदेश के इन नवनियुक्त अधिकारियों ने आवासीय परिसर में जनसंपर्क विभाग द्वारा लगाई गई विशाल छायाचित्र प्रदर्शनी एवं स्वच्छ भारत मिशन प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्होंने यहां होलोग्राफिक थिएटर में जनप्रतिनिधियों एवं पदाधिकारियों के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का संदेश ‘रमन की बात हमर मन के साथ’ भी देखा-सुना। प्रदेश के विभिन्न जिलों में पदस्थ यह अधिकारी छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी निमोरा में 40 दिनों के संयुक्त आधारभूत प्रशिक्षण के लिए आए हुए हैं। इन अधिकारियों में विभिन्न जिलों में पदस्थ नगर एवं ग्राम निवेश, उद्यानिकी, औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा विभाग के सहायक संचालक, भौतिकी एवं खनिकर्म विभाग के सहायक भौमिकीविद्, छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत मंडल के सहायक अभियंता एवं आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग के सहायक जनसम्पर्क अधिकारी सहित औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थाओं के प्राचार्य शामिल हैं।

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा  रायपुर और नया रायपुर

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा रायपुर और नया रायपुर

हमर छत्तीसगढ़ योजना में दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने जंगल सफारी, बॉटनीकल गार्डन, मंत्रालय, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, छत्तीसगढ़ विधानसभा और शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम देखा। पांच जिलों से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 552 सदस्य अध्ययन यात्रा पर राजधानी रायपुर पहुंचे हैं। इनमें सरगुजा के 152, गरियाबंद के 130, रायगढ़ के 129, कांकेर के 82 एवं कोरबा के 59 सदस्य शामिल हैं। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने अध्ययन प्रवास के पहले दिन नया रायपुर के राजधानी सरोवर में संगीतमय फव्वारे का आनंद लिया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में दोनों दिन समूह चर्चा के दौरान उन्हें शासकीय योजनाओं की जानकारी दी गई। आवासीय परिसर में पांचों जिलों के प्रतिनिधियों ने आज सवेरे योगाभ्यास भी किया।

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को दी गई  बीमा योजनाओं की जानकारी

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को दी गई बीमा योजनाओं की जानकारी

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों को सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई। आवासीय परिसर में प्रतिनिधियों के लिए आयोजित प्रशिक्षण सत्र में शासन की योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया गया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर पांच जिलों बस्तर, कोंडागांव, कांकेर, रायगढ़ और सूरजपुर के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 638 सदस्य राजधानी रायपुर आए हुए हैं। प्रशिक्षण सत्र में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के विकास विस्तार अधिकारी श्री जे.के. मिश्रा ने प्रतिनिधियों को अनेक योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना, भगिनी प्रसूति सहायता योजना, राजमाता विजयाराजे सामूहिक विवाह योजना एवं नौनिहाल छात्रवृत्ति योजना के बारे में बताया। श्री मिश्रा ने प्रतिनिधियों को आम आदमी बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना तथा अटल पेंशन योजना के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सहायक विकास विस्तार अधिकारी श्री उदय राम कामड़े ने संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों को हमर छत्तीसगढ़ योजना के उद्देश्यों एवं भ्रमण स्थलों के बारे में बताया। उन्होंने प्रतिनिधियों से अपने गांव को साफ-सुथरा और सुंदर बनाने की अपील की।

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर में ध्वजारोहण

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर में ध्वजारोहण

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ध्वजारोहण किया गया। हमर छत्तीसगढ़ योजना की प्रभारी अधिकारी सुश्री स्वेच्छा सिंह ने यहां ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर योजना के प्रभारी अधिकारी श्री अजय श्रीवास्तव सहित योजना में कार्य कर रहे सभी अधिकारी और कर्मचारी मौजूद थे।

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को भाया जंगल सफारी

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को भाया जंगल सफारी

विधानसभा और मंत्रालय में जाना-समझा विधायिका तथा कार्यपालिका के कार्यों को राजधानी रायपुर के अध्ययन भ्रमण पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को नया रायपुर के जंगल सफारी ने खासा रोमांचित किया। उन्होंने यहां वन्य प्राणियों को खुले में विचरते देखा। बैटरीचलित वाहन में बैठकर उन्होंने बाघ, सिंह और भालू सहित हिरणों की अनेक प्रजातियां देखी। प्रतिनिधि छत्तीसगढ़ विधानसभा और मंत्रालय का भ्रमण कर विधायिका एवं कार्यपालिका के कार्यों से रू-ब-रू हुए। विधानसभा के अधिकारियों ने उन्हें विधानसभा की प्रक्रियाओं और संसदीय व्यवस्था की जानकारी दी। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत पांच जिलों से संयुक्त वन प्रबंधन समिति के 580 सदस्य दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर रायपुर आए हैं। इनमें जशपुर के 163, बलरामपुर-रामानुजगंज के 128, बस्तर के 109, बीजापुर के 94 और महासमुंद के 86 सदस्य शामिल हैं। प्रतिनिधियों ने रायपुर और नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण कर प्रदेश के विकास को नजदीक से देखा। इस दौरान उन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा, मंत्रालय एवं जंगल सफारी के साथ ही इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, साइंस सेंटर, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण किया। संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने अध्ययन प्रवास के पहले दिन नया रायपुर के राजधानी सरोवर में संगीतमय फव्वारे का आनंद लिया। उन्होंने दूसरे दिन हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में छत्तीसगढ़ के लोकजीवन और संस्कृति पर आधारित सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देखीं। आवासीय परिसर में दोनों दिन प्रशिक्षण एवं सामूहिक चर्चा के जरिए उन्हें सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी दी गई। इस दौरान उन्होंने अपने-अपने कार्यों के अनुभव भी एक-दूसरे से साझा किए।

 संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा मंत्रालय,  क्रिकेट स्टेडियम और कृषि विश्वविद्यालय

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देखा मंत्रालय, क्रिकेट स्टेडियम और कृषि विश्वविद्यालय

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आए बस्तर, बीजापुर, बलरामपुर-रामानुजगंज, जशपुर और महासमुंद के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने आज यहां नया रायपुर में मंत्रालय और शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम देखा। उन्होंने रायपुर में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय का भी भ्रमण किया। यहां सदस्यों को उन्नत खेती एवं आधुनिक कृषि यंत्रों के बारे में जानकारी दी गई। सदस्यों के दो दिवसीय अध्ययन भ्रमण का आज पहला दिन था। पांच जिलों से आए संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने मंत्रालय (महानदी भवन) का भ्रमण कर वहां होने वाले प्रशासनिक कार्यों के बारे में जाना-समझा। उन्होंने यहां मंत्री ब्लॉक, सचिव ब्लॉक, प्रशासनिक ब्लॉक एवं एंसीलरी ब्लॉक देखा। उन्होंने पांचवीं मंजिल पर स्थित मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कार्यालय भी देखा। रजिस्ट्रार श्री बी.एस. कुशवाहा ने प्रतिनिधियों को मंत्रालय में होने वाले कार्यों और प्रक्रियाओं के बारे में जानकारी दी। शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम देखकर संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्य अभिभूत हो गए। जिस स्टेडियम को अब तक वे तस्वीरों और टेलीविजन में देखते आए थे, उसे साक्षात देखना उनके लिए रोमांचक अनुभव था। वे यह जानकर गर्व से भर उठे कि उनकी राजधानी का स्टेडियम दर्शक क्षमता के लिहाज से देश का दूसरा सबसे बड़ा स्टेडियम है। संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्य अध्ययन यात्रा के दूसरे दिन कल 07 अगस्त को छत्तीसगढ़ विधानसभा, जंगल सफारी, साइंस सेंटर एवं पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण करेंगे।

छत्तीसगढ़ के विकास के सफर से रू-ब-रू हुए  संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य

छत्तीसगढ़ के विकास के सफर से रू-ब-रू हुए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर राजधानी आए सरगुजा, रायगढ़, कांकेर, सुकमा और गरियाबंद के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने रायपुर एवं नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण किया। पांचों जिलों से कुल 626 प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर आए हुए हैं। रायगढ़ के 151, सरगुजा के 149, गरियाबंद के 127, सुकमा के 110 एवं कांकेर जिले के 89 प्रतिनिधि अध्ययन यात्रा पर रायपुर पहुंचे हैं। संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने जंगल सफारी में वन्य जीवों को स्वच्छंद विचरण करते देखा। उन्होंने नया रायपुर स्थित मंत्रालय (महानदी भवन) का भ्रमण कर प्रशासनिक काम-काज के बारे में जाना-समझा। सदस्यों ने छत्तीसगढ़ विधानसभा में संसदीय प्रणाली, सदन की व्यवस्था और सत्र संचालन के बारे में जानकारी ली। कृषि विश्वविद्यालय में आधुनिक खेती, उन्नत बीज, उर्वरकों के उपयोग, मिट्टी परीक्षण एवं नवीन कृषि यंत्रों के बारे में उन्हें जानकारी दी गई। अध्ययन प्रवास के दौरान प्रतिनिधियों ने शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और साइंस सेंटर भी देखा। उन्होंने नया रायपुर के राजधानी सरोवर में आकर्षक संगीतमय फव्वारे का भी आनंद लिया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में उनके लिए दोनों दिन विभिन्न प्रशिक्षण सत्रों एवं सामूहिक चर्चा का आयोजन किया गया। इसमें संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने अपने कार्यों के अनुभव एक-दूसरे से साझा किए।

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 626 सदस्य  राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 626 सदस्य राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर

हमर छत्तीसगढ़ योजना में वनांचलों में काम कर रहे संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 626 सदस्य अध्ययन भ्रमण पर रायपुर आए हुए हैं। इनमें रायगढ़ जिले के 151, सरगुजा के 149, गरियाबंद के 127, सुकमा के 110 एवं कांकेर जिले के 89 प्रतिनिधि शामिल हैं। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने अध्ययन प्रवास के पहले दिन आज यहां नया रायपुर में जंगल सफारी, मंत्रालय एवं शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का भ्रमण किया। उन्होंने रायपुर का इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय भी देखा। प्रतिनिधियों ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में समूह चर्चा एवं प्रशिक्षण में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्हें अनेक योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी दी गई। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने देर शाम नया रायपुर के राजधानी सरोवर में आकर्षक संगीतमय फव्वारे का आनंद लिया।

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों का अध्ययन भ्रमण  पहले दिन देखा मंत्रालय, क्रिकेट स्टेडियम और कृषि विश्वविद्यालय

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों का अध्ययन भ्रमण पहले दिन देखा मंत्रालय, क्रिकेट स्टेडियम और कृषि विश्वविद्यालय

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत अध्ययन भ्रमण पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने आज यहां राजधानी में मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय देखा। योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के होटल प्रबंधन संस्थान में उन्हें समूह चर्चा के दौरान कई शासकीय योजनाओं की जानकारी दी गई। छह जिलों से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के कुल 681 सदस्य दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर रायपुर पहुंचे हैं। इनमें कोरिया के 166, बालोद के 118, बिलासपुर के 111, कोरबा के 105, बीजापुर के 104 एवं कबीरधाम के 77 सदस्य शामिल हैं। अध्ययन यात्रा के दूसरे दिन कल 31 जुलाई को वे जंगल सफारी, छत्तीसगढ़ विज्ञान केन्द्र, विधानसभा और पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण करेंगे।

पांच जिलों के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने किया मंत्रालय, कृषि विश्वविद्यालय और क्रिकेट स्टेडियम का भ्रमण

पांच जिलों के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने किया मंत्रालय, कृषि विश्वविद्यालय और क्रिकेट स्टेडियम का भ्रमण

राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत आज सवेरे यहां सरगुजा, रायगढ़, गरियाबंद, राजनांदगांव और कांकेर जिले से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 580 सदस्य अध्ययन भ्रमण पर रायपुर पहुंचे। दो दिनों के अध्ययन प्रवास के पहले दिन आज उन्होंने नया रायपुर में मंत्रालय (महानदी भवन) और शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम देखा। उन्होंने रायपुर के इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में खेती की उन्नत तकनीकों और आधुनिक कृषि यंत्रों के बारे में भी जानकारी ली। अध्ययन भ्रमण पर आए सरगुजा के 151, रायगढ़ के 133, गरियाबंद के 125, राजनांदगांव के 108 तथा कांकेर जिले के 63 प्रतिनिधियों ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में प्रशिक्षण एवं समूह चर्चा में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्हें सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य अध्ययन यात्रा के दूसरे दिन कल 24 जुलाई को जंगल सफारी, पुरखौती मुक्तांगन, छत्तीसगढ़ विधानसभा और साइंस सेंटर का भ्रमण करेंगे।

नए अधिकारियों ने देखा हमर छत्तीसगढ़ योजना का आवासीय परिसर

नए अधिकारियों ने देखा हमर छत्तीसगढ़ योजना का आवासीय परिसर

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग से चयनित वर्ष 2014 बैच के 33 अधिकारियों ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने अध्ययन भ्रमण पर रायपुर आने वाले जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों के आवास, भोजन, पंजीयन, प्रशिक्षण एवं प्रदेश के विकास के साथ ही कला और संस्कृति से रू-ब-रू कराने यहां नया रायपुर के उपरवारा स्थित आवासीय परिसर होटल प्रबंधन संस्थान में की गई व्यवस्थाओं को देखा। प्रदेश के विभिन्न जिलों में पदस्थ यह अधिकारी छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी निमोरा में 40 दिनों के संयुक्त आधारभूत प्रशिक्षण के लिए आए हुए हैं। वर्ष 2014 बैच के इन अधिकारियों में विभिन्न जिलों में पदस्थ डिप्टी कलेक्टर, उप पुलिस अधीक्षक, सहायक आयुक्त, सहायक पंजीयक, वाणिज्यिक कर अधिकारी, जिला आबकारी अधिकारी, श्रम पदाधिकारी और समाज कल्याण विभाग के सहायक संचालक शामिल हैं। अधिकारियों ने यहां जनसंपर्क विभाग द्वारा लगाई गई विशाल छायाचित्र प्रदर्शनी एवं स्वच्छ भारत मिशन प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्हें हमर छत्तीसगढ़ योजना की खासियतों और उद्दश्यों के बारे में भी जानकारी दी गई।

छत्तीसगढ़ के विकास को नजदीक से जाना-समझा  संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने

छत्तीसगढ़ के विकास को नजदीक से जाना-समझा संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर राजधानी आए पांच जिलों सूरजपुर, कोरबा, बिलासपुर, कांकेर और सुकमा के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने रायपुर एवं नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण किया। पांचों जिलों से कुल 380 प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर आए हुए हैं। उन्होंने जंगल सफारी में बैटरीचलित वाहन में सैर किया और वहां वन्य जीवों को स्वच्छन्द माहौल में विचरते देखा। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने नया रायपुर स्थित मंत्रालय (महानदी भवन) का भ्रमण कर प्रशासनिक काम-काज के बारे में जाना-समझा। उन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा में संसदीय प्रणाली, सदन की व्यवस्था और सत्र संचालन के बारे में जानकारी ली। कृषि विश्वविद्यालय में आधुनिक खेती, उन्नत बीज, उर्वरकों के उपयोग, मिट्टी परीक्षण एवं नवीन कृषि यंत्रों के बारे में उन्हें जानकारी दी गई। अध्ययन भ्रमण के दौरान उन्होंने शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और छत्तीसगढ़ विज्ञान केंद्र भी देखा। सदस्यों ने अध्ययन प्रवास के पहले दिन देर शाम नया रायपुर के राजधानी सरोवर में आकर्षक संगीतमय फव्वारे का आनन्द लिया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों के लिए दोनों दिन विभिन्न प्रशिक्षण सत्रों एवं सामूहिक चर्चा का आयोजन किया गया। इसमें उन्होंने अपनी समितियों द्वारा किए जा रहे कार्यों के अनुभव एक-दूसरे से साझा किए।

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को भाया जंगल सफारी

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को भाया जंगल सफारी

राजधानी रायपुर के अध्ययन भ्रमण पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को नया रायपुर के जंगल सफारी ने खासा रोमांचित किया। उन्होंने यहां पहली बार वन्य प्राणियों को खुले में विचरते देखा। बैटरीचलित वाहन में बैठकर उन्होंने बाघ, सिंह और भालू सहित हिरणों की अनेक प्रजातियां देखी। उन्होंने यहां मोर और मगरमच्छ भी देखे। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के प्रतिनिधियों ने अध्ययन प्रवास के पहले दिन आज मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय का भी भ्रमण किया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत पांच जिलों से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 380 सदस्य दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर रायपुर आए हैं। इनमें कोरबा के 102, सूरजपुर के 94, कांकेर के 81, सुकमा के 53 और बिलासपुर जिले के 50 सदस्य शामिल हैं। योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में उन्हें प्रशिक्षण एवं सामूहिक चर्चा के जरिए सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी दी गई। इस दौरान उन्होंने अपने-अपने समितियों द्वारा किए जा रहे कार्यों के अनुभव भी साझा किए।

अध्ययन भ्रमण पर आज पहुंचेंगे पांच जिलों के  संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य

अध्ययन भ्रमण पर आज पहुंचेंगे पांच जिलों के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य

वनांचलों में काम कर रहे संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 650 सदस्य कल 19 जुलाई को अध्ययन भ्रमण पर राजधानी पहुंचेंगे। राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत पांच जिलों सूरजपुर, कोरबा, बिलासपुर, कांकेर और सुकमा से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर रायपुर आ रहे हैं। वे अध्ययन प्रवास के दौरान रायपुर और नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण कर छत्तीसगढ़ में पिछले 15 वर्षों में हुए विकास को नजदीक से देखेंगे। छायाचित्र प्रदर्शनी और होलोग्राफिक प्रोजेक्शन के जरिए उन्हें प्रदेश की उपलब्धियों एवं प्रगति की जानकारी दी जाएगी। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों के लिए कई प्रशिक्षण सत्रों एवं समूह चर्चा का आयोजन किया जाएगा। इसमें उन्हें सरकार की अनेक योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी दी जाएगी। अध्ययन यात्रा के दौरान सदस्य जंगल सफारी, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, पुरखौती मुक्तांगन, छत्तीसगढ़ विधानसभा, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय एवं साइंस सेंटर का भ्रमण करेंगे।

विधिक सहायता क्लिनिक से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के  सदस्यों को निःशुल्क कानूनी मदद

विधिक सहायता क्लिनिक से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को निःशुल्क कानूनी मदद

रायपुर. 17 जुलाई 2018. हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में स्थापित विधिक सहायता क्लिनिक से निर्वाचित जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों को निःशुल्क कानूनी सलाह एवं मदद मिल रही है। योजना के तहत अध्ययन भ्रमण पर आने वाले संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के प्रतिनिधियों को हर सोमवार एवं शुक्रवार उनके गांव, वन, वन्य प्राणियों से जुड़े या निजी मामलों पर आवासीय परिसर में संचालित विधिक सहायता क्लिनिक में निःशुल्क मार्गदर्शन दिया जा रहा है। रायपुर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान उन्हें शासन द्वारा मुहैया कराई जाने वाली निःशुल्क विधिक सेवाओं के बारे में बताते हैं। अध्ययन भ्रमण पर राजधानी रायपुर आए बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के ग्राम अरनाडीह, झलपी और लकमा, बीजापुर के रूद्रारंभ तथा कोरिया जिले के साजापार के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने आवासीय परिसर के विधिक सहायता क्लिनिक में विभिन्न कानूनी मसलों पर सलाह-मशविरा किया। अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान ने उन्हें हिन्दू उत्तराधिकार नियम और वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम के दायरे में आने वाले मामलों पर निःशुल्क सलाह एवं मार्गदर्शन दिया। श्री खान ने उन्हें जानकारी दी कि वे स्थानीय स्तर पर अपने जिले के जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से संपर्क कर कानूनी सहायता ले सकते हैं। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से उन्हें वकील की निःशुल्क सेवा भी मिल सकती है। पंचायत प्रतिनिधियों, सहकारिता प्रतिनिधियों, महिला स्वसहायता समूह एवं संयुक्त वन प्रबंधन समिति के पदाधिकारियों को कानूनी मदद उपलब्ध कराने के लिए हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर में पिछले करीब एक वर्ष से विधिक सहायता क्लिनिक संचालित की जा रही है। अध्ययन प्रवास पर आने वाले जनप्रतिनिधि और पदाधिकारी इससे लगातार लाभान्वित हो रहे हैं। आवासीय परिसर में प्रशिक्षण सत्र में उन्हें विभिन्न कानूनों की जानकारी भी दी जाती है। यहां उन्हें न्याय एवं अपने हक के लिए कानून के इस्तेमाल के लिए जागरूक भी किया जाता है।

महानदी भवन का भ्रमण कर संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के  सदस्यों ने जाना मंत्रालय का काम-काज

महानदी भवन का भ्रमण कर संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने जाना मंत्रालय का काम-काज

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन प्रवास पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने आज दोपहर नया रायपुर में मंत्रालय (महानदी भवन) का भ्रमण कर वहां होने वाले प्रशासकीय कार्यों के बारे में जाना-समझा। उन्होंने यहां मंत्री ब्लॉक, सचिव ब्लॉक, प्रशासनिक ब्लॉक और एंसीलरी ब्लॉक का अवलोकन किया। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के प्रतिनिधियों ने पांचवे तल पर स्थित मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कार्यालय भी देखा। मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री बी.एस. कुशवाहा ने उन्हें मंत्रालयीन कार्यों और प्रक्रियाओं की जानकारी दी। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के पांच जिलों से 603 प्रतिनिधि दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर आज सवेरे रायपुर पहुंचे। इनमें कोरिया के 164, बलरामपुर-रामानुजगंज के 152, राजनांदगांव के 111, बीजापुर के 105 एवं कबीरधाम के 71 सदस्य शामिल हैं। आज अध्ययन यात्रा के पहले दिन उन्होंने मंत्रालय और इंदिरा गाधी कृषि विश्वविद्यालय देखा। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में छायाचित्र प्रदर्शनी के जरिए छत्तीसगढ़ की उपलब्धियों एवं विकास गाथा से परिचित हुए। उन्होंने आवासीय परिसर में प्रशिक्षण कार्यक्रम तथा समूह चर्चा में भी हिस्सा लिया। प्रशिक्षण सत्र में उन्हें सरकार की अनेक योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी दी गई।

संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने देखा  जंगल सफारी, मंत्रालय और क्रिकेट स्टेडियम

संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने देखा जंगल सफारी, मंत्रालय और क्रिकेट स्टेडियम

अध्ययन प्रवास पर आए कांकेर, बालोद, गरियाबंद, महासमुंद एवं रायगढ़ के संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने आज यहां नया रायपुर में जंगल सफारी, मंत्रालय और शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम देखा। राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के पांच जिलों से 603 सदस्य अध्ययन भ्रमण पर राजधानी रायपुर आए हुए हैं। इनमें महासमुंद के 172, गरियाबंद के 140, बालोद के 120, कांकेर के 88 और रायगढ़ के 83 प्रतिनिधि शामिल हैं। दो दिवसीय अध्ययन यात्रा का आज पहला दिन था। अध्ययन प्रवास पर आए प्रतिनिधियों ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में प्रशिक्षण सत्र और समूह चर्चा में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्हें सरकार की योजनाओं की जानकारी दी गई। अध्ययन प्रवास के दूसरे दिन वे कल 13 जुलाई को छत्तीसगढ़ विधानसभा, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, साइंस सेंटर एवं पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण करेंगे।

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों का अध्ययन भ्रमण

संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों का अध्ययन भ्रमण

पहले दिन देखा जंगल सफारी, मंत्रालय, क्रिकेट स्टेडियम और कृषि विश्वविद्यालय हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत अध्ययन भ्रमण पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने आज यहां राजधानी में जंगल सफारी, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय देखा। योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के होटल प्रबंधन संस्थान में उन्हें समूह चर्चा के दौरान कई शासकीय योजनाओं की जानकारी दी गई। चार जिलों से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के कुल 476 सदस्य दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर रायपुर पहुंचे हैं। इनमें सरगुजा के 144, बस्तर के 136, जशपुर के 113 एवं बिलासपुर के 83 सदस्य शामिल हैं। अध्ययन यात्रा के दूसरे दिन कल 11 जुलाई को वे छत्तीसगढ़ विज्ञान केन्द्र, विधानसभा और पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण करेंगे। उल्लेखनीय है कि पंचायत प्रतिनिधियों, सहकारिता प्रतिनिधियों और महिला स्वसहायता समूह की पदाधिकारियों के बाद अब वनांचलों में गठित संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को राजधानी का अध्ययन भ्रमण कराया जा रहा है। इसके लिए हमर छत्तीसगढ़ योजना की अवधि तीन महीने बढ़ाई गई है। चालू जुलाई माह से आगामी सितम्बर महीने तक संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के करीब 16 हजार सदस्य अध्ययन यात्रा पर आएंगे। योजना के अंतर्गत पिछले दो वर्षों यानि 01 जुलाई 2016 से 30 जून 2018 तक लगभग एक लाख 55 हजार जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों ने रायपुर और नया रायपुर का अध्ययन भ्रमण किया है। इनमें प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायतीराज और सहकारी समितियों के निर्वाचित प्रतिनिधि तथा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित महिला स्वसहायता समूहों की पदाधिकारी शामिल हैं।

हमर छत्तीसगढ़ में 1.55 लाख प्रतिनिधि आए अध्ययन भ्रमण पर

हमर छत्तीसगढ़ में 1.55 लाख प्रतिनिधि आए अध्ययन भ्रमण पर

राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना हमर छत्तीसगढ़ के तहत 30 जून 2018 तक करीब एक लाख 55 हजार निर्वाचित जनप्रतिनिधियों और महिला स्वसहायता समूह की पदाधिकारियों ने राजधानी का अध्ययन भ्रमण किया। योजना के अंतर्गत ग्राम पंचायतों और नगर पंचायतों के लगभग एक लाख 38 हजार, सहकारी समितियों के सात हजार और महिला स्वसहायता समूहों के दस हजार से अधिक पदाधिकारी अध्ययन प्रवास पर रायपुर पहुंचे। इनमें प्रदेश के सभी 27 जिलों और 144 विकासखंडों के प्रतिनिधि शामिल हैं। त्रिस्तरीय पंचायतीराज प्रतिनिधियों के सशक्तिकरण और उनका अनुभव संसार समृद्ध करने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा 01 जुलाई 2016 को इस योजना की शुरुआत की गई थी। बाद में 02 अक्टूबर 2016 को सहकारिता के निर्वाचित प्रतिनिधियों और 16 मई 2018 से राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत काम कर रही महिला स्वसहायता समूहों की पदाधिकारियों को भी हमर छत्तीसगढ़ योजना से जोड़ा गया। बीते दो सालों में योजना की उपयोगिता को देखते हुए सरकार ने इसकी अवधि तीन माह बढ़ा दी है। आगामी 10 जुलाई से 30 सितम्बर तक संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर आएंगे। इस दौरान प्रदेश के 32 वनमंडलों में गठित करीब सात हजार 900 समितियों के लगभग 16 हजार प्रतिनिधि अध्ययन प्रवास पर आएंगे। दो दिनों के अध्ययन दौरे के दौरान जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों को नया रायपुर में जंगल सफारी, मंत्रालय (महानदी भवन), फाइव-डी इमर्सिव डोम, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन दिखाया जाता है। वहीं रायपुर में उन्हें छत्तीसगढ़ विधानसभा, साइंस सेंटर, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय और स्वामी विवेकानंद विमानतल का भ्रमण कराया जाता है। नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान को योजना के आवासीय परिसर के रूप में विकसित किया गया है। यहां एक साथ करीब 750 प्रतिनिधियों के आवास एवं भोजन की व्यवस्था है। अध्ययन भ्रमण के साथ-साथ प्रतिनिधियों को कई विभागों की योजनाओं की जानकारी दी जाती है। इस दौरान प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों से आए प्रतिनिधि शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन और अपने कार्यों के अनुभव एक-दूसरे से साझा करते हैं। ग्रामसभा, स्वच्छता, विधिक सहायता एवं डिजिटल लेन-देन के बारे में भी उन्हें जागरूक किया जाता है। अध्ययन प्रवास पर आने वाले सभी प्रतिनिधियों को आवासीय परिसर में योगाभ्यास भी कराया जाता है। छायाचित्र प्रदर्शनी, होलोग्राफिक थिएटर में पंचायत प्रतिनिधियों के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का संदेश रमन के बात हमर मन के साथ, लाइट एंड साउंड शो एवं सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के जरिए जनप्रतिनिधियों एवं पदाधिकारियों को पिछले 15 वर्षों में छत्तीसगढ़ में हुए विकास और राज्य की उपलब्धियों से रू-ब-रू कराया जाता है।

हमर छत्तीसगढ़ योजना का विस्तार  संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य भी आएंगे

हमर छत्तीसगढ़ योजना का विस्तार संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य भी आएंगे

राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर भ्रमण की तैयारी के लिए अपर मुख्य सचिव ने कलेक्टरों को जारी किया परिपत्र पंचायत प्रतिनिधियों, सहकारिता प्रतिनिधियों और स्वसहायता समूह की महिलाओं के बाद अब संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य भी हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर आएंगे। योजना के तहत प्रदेश के सभी 32 वनमंडलों में गठित सात हजार 887 संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के प्रतिनिधि दो दिवसीय अध्ययन प्रवास पर रायपुर आएंगे। इस दौरान वे रायपुर और नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण कर छत्तीसगढ़ में पिछले डेढ़ दशकों में हुए विकास और राज्य की उपलब्धियों से रू-ब-रू होंगे। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों के अध्ययन दौरे की तैयारी के लिए पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री आर.पी. मंडल ने सभी कलेक्टरों को परिपत्र जारी किया है। उल्लेखनीय है कि हमर छत्तीसगढ़ योजना की उपयोगिता को देखते हुए अभी हाल ही में 26 जून को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में योजना की अवधि तीन महीने बढ़ाने और संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों को इससे जोड़ने का निर्णय लिया गया था। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा आज यहां मंत्रालय से कलेक्टरों को जारी परिपत्र के अनुसार संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के प्रतिनिधि अगले तीन महीनों तक लगभग 650-650 की संख्या में दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर राजधानी आएंगे। सितम्बर 2018 तक लगभग 16 हजार प्रतिनिधियों को भ्रमण कराने का लक्ष्य है। अध्ययन प्रवास पर आने वाली हर समिति को अपने इलाके से स्थानीय प्रजाति का एक फलदार पौधा लाने कहा गया है जिसे नया रायपुर में रोपित किया जाएगा। परिपत्र में अपर मुख्य सचिव श्री आर.पी. मंडल ने रायपुर, दुर्ग एवं बिलासपुर संभाग के प्रतिनिधियों को भ्रमण के पहले दिन सवेरे नौ बजे के पूर्व हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान पहुंचने के लिए निर्देशित किया है। बस्तर एवं सरगुजा संभाग के प्रतिनिधियों को अध्ययन भ्रमण के एक दिन पहले रात नौ बजे के पूर्व आवासीय परिसर पहुंचने कहा गया है। श्री मंडल ने योजना से जुड़े पंचायत एवं वन विभाग के सभी अधिकारियों को भ्रमण के निर्धारित कार्यक्रमानुसार सभी तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों के अध्ययन दौरे की शुरूआत आगामी 10 जुलाई से होगी। इस दिन बस्तर, बीजापुर, सरगुजा, जशपुर और मरवाही वनमंडल के प्रतिनिधि अध्ययन प्रवास पर राजधानी आएंगे।

स्वसहायता समूह की महिलाओं ने देखा रायपुर और नया रायपुर

स्वसहायता समूह की महिलाओं ने देखा रायपुर और नया रायपुर

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (बिहान) के तहत गांवों में काम रहीं महिला स्वसहायता समूहों की 706 पदाधिकारी इन दिनों राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर हैं। यह महिलाएं राज्य शासन की हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर यहां पहुंची हैं। प्रवास के दूसरे दिन आज उन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा, साइंस सेंटर और इदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय देखा। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के होटल प्रबंधन संस्थान में स्वसहायता समूह की महिलाओं को विभिन्न शासकीय योजनाओं की जानकारी दी गई। अध्ययन प्रवास के पहले दिन देर शाम उन्होंने पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो भी देखा। इसमें उन्हें छत्तीसगढ़ के पृथक राज्य बनने से लेकर अब तक के विकास की झलक दिखाई गई। साथ ही प्रदेश के पौराणिक, ऐतिहासिक, पुरातात्विक और सांस्कृतिक पहलुओं की भी जानकारी दी गई। शो में उन्हें सरकार की अनेक योजनाओं के बारे में भी बताया गया। स्वसहायता समूह की पदाधिकारियों ने अध्ययन भ्रमण के पहले दिन नया रायपुर में जंगल सफारी, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखा। विभिन्न स्वसहायता समूहों से राजनांदगांव जिले की 192, गरियाबंद की 134, दुर्ग की 111, बलरामपुर-रामानुजगंज की 94, सूरजपुर की 93 और कोरिया जिले की 82 पदाधिकारी अध्ययन दौरे पर रायपुर आईं हैं।

राज्य के विकास के सफर से रू-ब-रू हुईं स्वसहायता समूह की महिलाएं  छह जिलों की 675 महिलाएं राजधानी के अध्ययन प्रवास पर

राज्य के विकास के सफर से रू-ब-रू हुईं स्वसहायता समूह की महिलाएं छह जिलों की 675 महिलाएं राजधानी के अध्ययन प्रवास पर

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आईं कोरिया, बलरामपुर-रामानुजगंज, सूरजपुर, राजनांदगांव, दुर्ग एवं गरियाबंद की महिला स्वसहायता समूहों की पदाधिकारियों ने पिछले डेढ़ दशक में छत्तीसगढ़ में हुए विकास को नजदीक से देखा। अध्ययन प्रवास के पहले दिन आज उन्होंने नया रायपुर में जंगल सफारी, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण कर अपना अनुभव संसार समृद्ध किया। छह जिलों से स्वसहायता समूहों की 675 महिलाएं दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर रायपुर आई हुई हैं। इनमें राजनांदगांव की 192, गरियाबंद की 134, दुर्ग की 111, सूरजपुर की 93, कोरिया की 81 एवं बलरामपुर-रामानुजगंज की 64 महिलाएं शामिल हैं। स्वसहायता समूहों की पदाधिकारियों ने पुरखौती मुक्तांगन में देर शाम लाइट एंड साउंड शो का आनन्द लिया, जहां कलाकारों ने ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों के कार्यों और जिम्मेदारियों पर आधारित नाट्य मंचन से उन्हें जागरूक किया। महिलाओं ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में प्रशिक्षण और सामूहिक चर्चा में भी हिस्सा लिया। इसमें उन्हें अनेक योजनाओं तथा शासकीय कार्यक्रमों के प्रभावी क्रियान्वयन के बारे में बताया गया।

भारत दर्शन पर निकले भारतीय पुलिस सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों ने जाना-समझा हमर छत्तीसगढ़ योजना को

भारत दर्शन पर निकले भारतीय पुलिस सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों ने जाना-समझा हमर छत्तीसगढ़ योजना को

योजना के आवासीय परिसर का किया भ्रमण भारत दर्शन पर निकले भारतीय पुलिस सेवा के 14 प्रशिक्षु अधिकारियों ने आज शाम यहां हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर का भ्रमण किया। योजना को जानने-समझने नया रायपुर के उपरवारा स्थित आवासीय परिसर होटल प्रबंधन संस्थान पहुंचे इन अधिकारियों में उत्तरप्रदेश, तमिलनाडू, केरल, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, पश्चिम बंगाल, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश एवं केन्द्र शासित प्रदेश कैडर के 2017 बैच के नवनियुक्त भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी शामिल थे। हैदराबाद के सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में प्रशिक्षणरत् यह अधिकारी अध्ययन-सह-सांस्कृतिक भ्रमण पर चार राज्यों छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, बिहार और झारखंड का दौरा कर रहे हैं। आवासीय परिसर आने के पूर्व आज उन्होंने राज्यपाल श्री बलरामजी दास टंडन, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और पुलिस महानिदेशक श्री ए.एन. उपाध्याय से भी मुलाकात की। आवासीय परिसर में अधिकारियों ने पंचायत प्रतिनिधियों और महिला स्वसहायता समूह के पदाधिकारियों के अध्ययन भ्रमण के लिए की गई विभिन्न व्यवस्थाओं को देखा। उन्होंने यहां जनसंपर्क विभाग द्वारा लगाई गई छायाचित्र प्रदर्शनी और स्वच्छ भारत मिशन प्रदर्शनी का अवलोकन किया। होलोग्राफिक थियेटर में उन्होंने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का पंचायत प्रतिनिधियों के लिए संदेश रमन के बात हमर मन के साथ भी देखा। हमर छत्तीसगढ़ योजना के प्रभारी अधिकारी श्री दिनेश अग्रवाल ने उन्हें योजना की खासियतों एवं अध्ययन भ्रमण पर आने वाले जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों के लिए संचालित विभिन्न गतिविधियों के बारे में विस्तार से बताया।

विधिक सहायता क्लिनिक के जरिए महिलाओं को  निःशुल्क कानूनी मदद

विधिक सहायता क्लिनिक के जरिए महिलाओं को निःशुल्क कानूनी मदद

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में स्थापित विधिक सहायता क्लिनिक से स्वसहायता समूह की महिलाओं को निःशुल्क कानूनी सलाह एवं मदद मिल रही हैं। योजना के तहत अध्ययन भ्रमण पर आने वाली महिला स्वसहायता समूह की पदाधिकारियों को उनके गांव से जुड़े या निजी मामलों पर आवासीय परिसर में संचालित विधिक सहायता क्लिनिक में निःशुल्क मार्गदर्शन दिया जाता है। रायपुर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान उन्हें शासन द्वारा मुहैया कराई जाने वाली निःशुल्क विधिक सेवाओं के बारे में बताते हैं। अध्ययन भ्रमण पर राजधानी रायपुर आईं राजनांदगांव और गरियाबंद की महिलाओं ने यहां आवासीय परिसर के विधिक सहायता क्लिनिक में विभिन्न कानूनी मसलों पर सलाह-मशविरा किया। अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान ने राजनांदगांव जिले के आरसीटोला, टोंकपुर और बरसनपुर तथा गरियाबंद जिले के परसुली की स्वसहायता समूह की महिलाओं एवं उनके परिवार से संबंधित घरेलू हिंसा, भरण-पोषण, मोटर दुर्घटना दावा तथा हिन्दू उत्तराधिकार नियम के दायरे में आने वाले मामलों पर निःशुल्क सलाह एवं मार्गदर्शन दिया। श्री खान ने उन्हें जानकारी दी कि वे स्थानीय स्तर पर अपने जिले के जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से संपर्क कर कानूनी सहायता ले सकते हैं। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से उन्हें वकील की निःशुल्क सेवा भी मिल सकती है। पंचायत प्रतिनिधियों, सहकारिता प्रतिनिधियों और महिला स्वसहायता समूह की पदाधिकारियों को कानूनी मदद उपलब्ध कराने के लिए हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर में पिछले 11 महीनों से विधिक सहायता क्लिनिक संचालित की जा रही है। अध्ययन प्रवास पर आने वाले जनप्रतिनिधि और पदाधिकारी इससे लगातार लाभान्वित हो रहे हैं। आवासीय परिसर में रोज आयोजित होने वाले प्रशिक्षण सत्र में उन्हें विभिन्न कानूनों की जानकारी भी दी जाती है। यहां उन्हें न्याय एवं अपने हक के लिए कानून के इस्तेमाल के लिए जागरूक भी किया जाता है।

स्वसहायता समूहों की 700 महिलाएं राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर

स्वसहायता समूहों की 700 महिलाएं राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (बिहान) के तहत काम कर रहीं महिला स्वसहायता समूहों की 700 पदाधिकारी आज सवेरे अध्ययन भ्रमण पर राजधानी पहुंची। इनमें राजनांदगांव जिले की 209, बलरामपुर-रामानुजगंज की 158, सूरजपुर की 87, बलौदाबाजार-भाटापारा और सुकमा की 83-83 एवं गरियाबंद जिले की 79 महिलाएं शामिल हैं। हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत छह जिलों की स्वसहायता समूह की महिलाएं दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर रायपुर आई हैं। ग्राम संगठन और संकुल संगठन की इन महिला पदाधिकारियों ने अध्ययन प्रवास के पहले दिन आज नया रायपुर में मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखा। उन्होंने रायपुर के इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय का भी भ्रमण किया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में छायाचित्र प्रदर्शनी और होलोग्राफिक प्रोजेक्शन तथा पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो के जरिए उन्हें प्रदेश की उपलब्धियों एवं प्रगति की जानकारी दी गई। आवासीय परिसर में स्वसहायता समूह की महिलाओं के लिए प्रशिक्षण एवं समूह चर्चा का आयोजन किया गया। इसमें उन्हें सरकार की अनेक योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी दी गई। वे अध्ययन यात्रा के दूसरे दिन कल 26 जून को जंगल सफारी, छत्तीसगढ़ विधानसभा एवं साइंस सेंटर का भ्रमण करेंगी।