प्रेस रिलीज़

Date
Month
Year
District
Place
Photo Category


Previous12345...1415Next
पंचायत प्रतिनिधियों ने महानदी भवन का भ्रमण कर जाना  मंत्रालय का काम-काज

पंचायत प्रतिनिधियों ने महानदी भवन का भ्रमण कर जाना मंत्रालय का काम-काज

तीन जिलों के 519 पंच-सरपंच राजधानी के अध्ययन प्रवास पर हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन प्रवास पर आए पंचायत प्रतिनिधियों ने आज दोपहर नया रायपुर में मंत्रालय (महानदी भवन) का भ्रमण कर वहां होने वाले प्रशासकीय कार्यों के बारे में जाना-समझा। पंच-सरपंचों ने यहां मंत्री ब्लॉक, सचिव ब्लॉक, प्रशासनिक ब्लॉक और एंसीलरी ब्लॉक का अवलोकन किया। उन्होंने पांचवे तल पर स्थित मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कार्यालय भी देखा। मंत्रालय के अधिकारियों ने उन्हें मंत्रालयीन कार्यों और प्रक्रियाओं की जानकारी दी। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत तीन जिलों के 519 पंचायत प्रतिनिधि दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर आज सवेरे रायपुर पहुंचे। इनमें रायगढ़ के 198, बलौदाबाजार-भाटापारा के 165 एवं बिलासपुर के 156 पंच-सरपंच शामिल हैं। आज अध्ययन यात्रा के पहले दिन उन्होंने नया रायपुर में मंत्रालय सहित जंगल सफारी, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखा। पंचायत प्रतिनिधि योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में छायाचित्र प्रदर्शनी और होलोग्राफिक प्रोजेक्शन, तथा पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो के जरिए छत्तीसगढ़ की उपलब्धियों एवं विकास गाथा से परिचित हुए। उन्होंने आवासीय परिसर में प्रशिक्षण कार्यक्रम तथा समूह चर्चा में भी हिस्सा लिया। प्रशिक्षण सत्र में पंच-सरपंचों को सरकार की अनेक योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी दी गई।

 अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य श्री प्रबोध मिंज ने सरगुजा के

अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य श्री प्रबोध मिंज ने सरगुजा के

पंचायत प्रतिनिधियों से की मुलाकात छत्तीसगढ़ राज्य अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य श्री प्रबोध मिंज आज दोपहर यहां साइंस सेंटर पहुंचे और सरगुजा के पंच-सरपंचों से मुलाकात की। राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत सरगुजा के 264 पंचायत प्रतिनिधि दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर राजधानी रायपुर आए हुए हैं। पंच-सरपंचों के छत्तीसगढ़ विज्ञान केन्द्र के भ्रमण के दौरान राज्य अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य श्री प्रबोध मिंज वहां पहुंचे और उनसे मिले। श्री मिंज ने पंचायत प्रतिनिधियों से शासन की कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि हमर छत्तीसगढ़ योजना से दूरस्थ अंचलों के गांवों-कस्बों के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को राजधानी देखने-घूमने का मौका मिलता है। यहां आकर वे प्रदेश के विकास के साथ-साथ नवीन तकनीकों, वैज्ञानिक प्रगति तथा छत्तीसगढ़ की उपलब्धियों से रू-ब-रू होते हैं।

संसदीय सचिव श्री तोखन साहू और विधायक श्री चुन्नी लाल साहू से मिले पंच-सरपंच

संसदीय सचिव श्री तोखन साहू और विधायक श्री चुन्नी लाल साहू से मिले पंच-सरपंच

कृषि एवं जल संसाधन विभाग के संसदीय सचिव और लोरमी के विधायक श्री तोखन साहू, तथा खल्लारी के विधायक श्री चुन्नी लाल साहू से पंचायत प्रतिनिधियों ने मुलाकात की। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत मुंगेली जिले से आए पंच-सरपंच अपने मंत्रालय भ्रमण के दौरान दोनों विधायकों से मिले। संसदीय सचिव श्री तोखन साहू एवं विधायक श्री चुन्नी लाल साहू ने पंचायत प्रतिनिधियों का हाल-चाल जाना तथा उनके गांवों में चल रहे विकास कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने पंच-सरपंचों को अध्ययन भ्रमण के लिए शुभकामनाएं दी। हमर छत्तीसगढ़ योजना में दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर मुंगेली जिले के 212 पंचायत प्रतिनिधि रायपुर आए हुए हैं।

 हमर छत्तीसगढ़ योजना : गांव-कस्बों के सवा लाख निर्वाचित जनप्रतिनिधि आ चुके हैं अध्ययन भ्रमण पर

हमर छत्तीसगढ़ योजना : गांव-कस्बों के सवा लाख निर्वाचित जनप्रतिनिधि आ चुके हैं अध्ययन भ्रमण पर

पंचायत और सहकारिता प्रतिनिधियों के अध्ययन, सशक्तिकरण और शिक्षण-प्रशिक्षण की अनूठी योजना राज्य के विकास को जन-जन तक पहुंचाने एवं गांव-कस्बों के निर्वाचित प्रतिनिधियों के सशक्तिकरण के लिए शुरू की गई महत्वाकांक्षी योजना ‘हमर छत्तीसगढ़’ के तहत अब तक सवा लाख जनप्रतिनिधि राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर आ चुके हैं। अध्ययन प्रवास पर आज पहुंचे सरगुजा, बलरामपुर-रामानुजगंज और मुंगेली के 686 पंच-सरपंचों के साथ ही यह संख्या अब सवा लाख का आंकड़ा पार कर गई है। करीब 19 महीने पहले 01 जुलाई 2016 को शुरू हुए ‘हमर छत्तीसगढ़’ योजना में अब तक एक लाख 25 हजार 600 निर्वाचित प्रतिनिधि रायपुर और नया रायपुर की अध्ययन यात्रा कर चुके हैं। इनमें ग्राम पंचायतों के एक लाख 18 हजार 766, नगर पंचायतों के 378 तथा सहकारी संस्थाओं के छह हजार 456 प्रतिनिधि शामिल हैं। पिछले 19 महीनों में राज्य के सभी 27 जिलों और 146 विकासखंडों के पंचायत एवं सहकारिता प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर राजधानी पहुंचे हैं। सरगुजा के 264, बलरामपुर-रामानुजगंज के 210 और मुंगेली के 212 पंच-सरपंच आज अध्ययन प्रवास पर रायपुर पहुंचे हैं। दो वर्षों यानि 30 जून 2018 तक चलने वाली इस योजना में प्रदेश के एक लाख 72 हजार पंचायत प्रतिनिधियों को रायपुर और नया रायपुर का अध्ययन भ्रमण कराने का लक्ष्य है। इनमें ग्राम पंचायतों के एक लाख 70 हजार 285 एवं नगर पंचायतों के एक हजार 768 प्रतिनिधि शामिल हैं। नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान को योजना के आवासीय परिसर के रूप में विकसित किया गया है। यहां पंचायत प्रतिनिधियों के पंजीयन, आवास, भोजन, शिक्षण-प्रशिक्षण और मनोरंजन की व्यवस्था है। योजना के अंतर्गत जनप्रतिनिधियों को छत्तीसगढ़ में पिछले डेढ़ दशक में हुए विकास कार्यों, कृषि और विज्ञान के क्षेत्र में हो रही नित नई प्रगति एवं प्रदेश की संस्कृति व कला सहित शासकीय योजनाओं की जानकारी दी जाती है। अध्ययन भ्रमण पर पहुंचने वाले सवा लाख प्रतिनिधियों में बस्तर और सरगुजा जैसे सुदूर वनांचलों के जनप्रतिनिधि भी बड़ी संख्या में हैं जिन्हें इस योजना की बदौलत पहली बार राजधानी देखने का मौका मिला। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और मंत्रीगण पंचायत प्रतिनिधियों से अपने निवास पर मुलाकात करते हैं। इस दौरान पंच-सरपंच उनसे अपने अध्ययन भ्रमण के अनुभव भी साझा करते हैं। कई विधायक भी यहां अपने क्षेत्रों से आए जनप्रतिनिधियों से मिलते हैं। ‘हमर छत्तीसगढ़’ योजना में दो दिनों के अध्ययन प्रवास के दौरान पंच-सरपंचों को जंगल सफारी, मंत्रालय, विधानसभा, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, साइंस सेंटर, ऊर्जा पार्क, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, फाइव-डी इमर्सिव डोम, माना विमानतल एवं पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण कराया जाता है। पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो के जरिए उन्हें छत्तीसगढ़ से जुड़े पौराणिक आख्यानों, इतिहास, पुरातत्व, संस्कृति, स्वतंत्रता आंदोलन में यहां के सेनानियों के योगदान तथा छत्तीसगढ़ के अलग राज्य बनने की कहानी के साथ ही प्रदेश की उपलब्धियों एवं योजनाओं की जानकारी दी जाती है। भ्रमण के साथ ही पंचायत प्रतिनिधियों के लिए आवासीय परिसर में प्रशिक्षण एवं सामूहिक चर्चा का आयोजन किया जाता है। इसमें वे विकास कार्यों और योजनाओं के क्रियान्वयन संबंधी अपने अनुभव साझा करते हैं। स्वच्छता एवं विधिक जागरूकता के लिए भी यहां नियमित कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। पंचायत प्रतिनिधियों के लिए आवासीय परिसर में विधिक सहायता क्लिनिक भी संचालित है जहां उन्हें निःशुल्क कानूनी परामर्श एवं सहायता दी जाती है। भ्रमण पर आने वाले पंचायत प्रतिनिधियों को योगाभ्यास भी कराया जाता है। योग प्रशिक्षक की देखरेख में वे विभिन्न आसनों का अभ्यास करते हैं। साथ ही उन्हें स्वस्थ और प्रसन्न रहने के गुर भी बताए जाते हैं।

विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने पंच-सरपंचों को  समझायी संसदीय व्यवस्था

विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने पंच-सरपंचों को समझायी संसदीय व्यवस्था

छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने संसदीय व्यवस्था और विधानसभा की कार्यवाही के बारे में पंचायत प्रतिनिधियों को खुद जानकारी दी। विधानसभा अध्यक्ष हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन प्रवास पर आए बलौदाबाजार-भाटापारा के पंच-सरपंचों को विधानसभा के सदन में लेकर गए और अध्यक्ष की आसंदी से सदन की बैठक व्यवस्था, संचालन और विधायी प्रक्रियाओं की जानकारी दी। इस दौरान विधानसभा के सचिव श्री चन्द्रशेखर गंगराड़े और संचालक डॉ. सत्येन्द्र तिवारी भी मौजूद थे। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत बलौदाबाजार जिले के 205 पंच-सरपंच दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर राजधानी रायपुर आए हुए थे। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने पंचायत प्रतिनिधियों को विधानसभा के कार्यों, विधेयक एवं बजट पारित होने की प्रक्रियाओं की जानकारी दी। उन्होंने विधानसभा को प्रदेश की सबसे बड़ी पंचायत की संज्ञा देते हुए कहा कि प्रदेश के लिए कानून यहीं बनता है। सरकार और सभी दलों के विधायक चर्चा कर राज्य की नीतियां एवं कानून बनाते हैं।

मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष से पंचायत प्रतिनिधियों ने की मुलाकात

मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष से पंचायत प्रतिनिधियों ने की मुलाकात

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल से आज यहां विधानसभा परिसर में पंचायत प्रतिनिधियों ने सौजन्य मुलाकात की। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के 205 पंच-सरपंच दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर राजधानी रायपुर आए हुए हैं। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पंच-सरपंचों से उनके गांवों में चल रहे विकास कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने सरकार की कल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों के क्रियान्वयन के बारे में भी पूछा। इस दौरान उच्च शिक्षा एवं राजस्व मंत्री श्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय, वन एवं विधायी कार्य मंत्री श्री महेश गागड़ा, अहिवारा के विधायक राजमहंत श्री सांवला राम डाहरे तथा विधानसभा के सचिव श्री चन्द्रशेखर गंगराड़े भी मौजूद थे। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने सदन में पंच-सरपंचों को स्वयं विधानसभा की कार्यवाही और प्रक्रियाओं की जानकारी दी। पंचायत प्रतिनिधियों ने परिसर में विधानसभा के सदन के साथ ही सेंट्रल हॉल, पुस्तकालय, समिति कक्ष और प्रेक्षागृह देखा। विधानसभा के संचालक डॉ. सत्येन्द्र तिवारी ने उन्हें विधानसभा के कार्यों, संचालन और नियमों के बारे में विस्तार से बताया।

बीमा योजनाओं और विधिक सहायता के बारे में जाना पंच-सरपंचों ने

बीमा योजनाओं और विधिक सहायता के बारे में जाना पंच-सरपंचों ने

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आए पंचायत प्रतिनिधियों को सरकार की बीमा योजनाओं और आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को दी जाने वाली निःशुल्क विधिक सहायता की जानकारी दी गई। योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में पंच-सरपंच प्रशिक्षण एवं समूह चर्चा में शामिल हुए। इस दौरान पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के विकास विस्तार अधिकारी श्री जे.के. मिश्रा ने उन्हें प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना, अटल खेतिहर मजदूर बीमा योजना, प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना एवं आम आदमी बीमा योजना के बारे में विस्तार से बताया। उन्होने जानकारी दी कि प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को छह हजार रूपए की आर्थिक सहायता दी जाती है। रायपुर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान ने पंचायत प्रतिनिधियों को विभिन्न कानूनों की जानकारी दी। उन्होंने आर्थिक रूप से कमजोर तबकों को शासन द्वारा मुहैया कराई जाने वाली निःशुल्क विधिक सहायता के बारे में भी बताया। इसके अंतर्गत जरूरतमंद परिवारों को सरकार द्वारा बिना किसी शुल्क के वकील की सेवा उपलब्ध कराई जाती है। विकास विस्तार अधिकारी श्री चंद्रशेखर शर्मा, सहायक विकास विस्तार अधिकारीद्वय श्री उदय राम कामड़े एवं श्री विजय साहू, तथा सहायक करारोपण अधिकारी श्री राजेंद्र ठाकुर ने भी पंच-सरपंचों को शासकीय योजनाओं की जानकारी दी।

पंच-सरपंचों ने देखा मंत्रालय, कृषि विश्वविद्यालय,  क्रिकेट स्टेडियम और मुक्तांगन

पंच-सरपंचों ने देखा मंत्रालय, कृषि विश्वविद्यालय, क्रिकेट स्टेडियम और मुक्तांगन

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत आज बिलासपुर, रायगढ़ और बलौदाबाजार-भाटापारा के 600 से अधिक पंचायत प्रतिनिधि दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर रायपुर पहुंचे। इनमें रायगढ़ जिले के 209, बलौदाबाजार के 205 और बिलासपुर जिले के 198 पंच-सरपंच शामिल हैं। अध्ययन भ्रमण के पहले दिन आज उन्होंने नया रायपुर में मंत्रालय (महानदी भवन), शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखा। उन्होंने रायपुर के इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय का भी भ्रमण किया। यहां वे खेती की आधुनिक तकनीकों और नए कृषि यंत्रों से परिचित हुए। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में पंचायत प्रतिनिधियों को सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई। उन्होंने देर शाम पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो का आनंद लिया। तीनों जिलों के पंच-सरपंच अध्ययन प्रवास के दूसरे दिन कल 06 फरवरी को जंगल सफारी, फाइव-डी इमर्सिव डोम, छत्तीसगढ़ विधानसभा, साइंस सेंटर और स्वामी विवेकानंद विमानतल का भ्रमण करेंगे।

अध्ययन भ्रमण पर आज पहुंचेंगे बिलासपुर, रायगढ़  और बलौदाबाजार के पंच-सरपंच

अध्ययन भ्रमण पर आज पहुंचेंगे बिलासपुर, रायगढ़ और बलौदाबाजार के पंच-सरपंच

राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत बिलासपुर, रायगढ़ और बलौदाबाजार-भाटापारा के करीब 700 पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर कल 05 फरवरी को राजधानी रायपुर पहुंचेंगे। तीनों जिलों के पंच-सरपंच दो दिनों के अध्ययन प्रवास के दौरान रायपुर और नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण कर छत्तीसगढ़ में पिछले 15 वर्षों में हुए विकास को नजदीक से देखेंगे। छायाचित्र प्रदर्शनी, होलोग्राफिक प्रोजेक्शन तथा लाइट एंड साउंड शो के जरिए उन्हें प्रदेश की उपलब्धि एवं प्रगति की जानकारी दी जाएगी। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में पंचायत प्रतिनिधियों के लिए कई प्रशिक्षण सत्रों एवं समूह चर्चा का आयोजन किया जाएगा। इसमें उन्हें सरकार की अनेक योजनाओं एवं कार्यक्रमों की बारीकियों के बारे में बताया जाएगा। दो दिवसीय अध्ययन यात्रा के दौरान पंच-सरपंच जंगल सफारी, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, फाइव-डी इमर्सिव डोम, पुरखौती मुक्तांगन, छत्तीसगढ़ विधानसभा, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, साइंस सेंटर और स्वामी विवेकानंद विमानतल का भ्रमण करेंगे।

विधिक सहायता क्लिनिक से पंचायत प्रतिनिधियों को  मिल रही है कानूनी मदद

विधिक सहायता क्लिनिक से पंचायत प्रतिनिधियों को मिल रही है कानूनी मदद

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में स्थापित विधिक सहायता क्लिनिक से पंचायत प्रतिनिधियों को निःशुल्क कानूनी सलाह एवं मदद मिल रही हैं। योजना के तहत अध्ययन भ्रमण पर आने वाले पंच-सरपंचों को उनकी पंचायत से जुड़े या निजी मामलों पर आवासीय परिसर में संचालित विधिक सहायता क्लिनिक में निःशुल्क मार्गदर्शन दिया जाता है। रायपुर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान उन्हें शासन द्वारा मुहैया कराई जाने वाली निःशुल्क विधिक सेवाओं के बारे में बताते हैं। अध्ययन भ्रमण पर राजधानी रायपुर आए जांजगीर-चांपा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने आज यहां आवासीय परिसर के विधिक सहायता क्लिनिक में अपने जमीन विवाद संबंधी प्रकरण पर चर्चा की। अधिवक्ता श्री शाहिर लुधियानवी खान ने पामगढ़ जनपद के कोसीर पंचायत के प्रतिनिधियों के मामले की जानकारी लेकर जरूरी परामर्श दिया। श्री खान ने उन्हें जानकारी दी कि वे स्थानीय स्तर पर जांजगीर-चांपा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से संपर्क कर कानूनी सहायता ले सकते हैं। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से उन्हें वकील की निःशुल्क सेवा भी मिल सकती है। पंचायत प्रतिनिधियों को कानूनी मदद उपलब्ध कराने के लिए हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर में पिछले छह महीनों से विधिक सहायता क्लिनिक संचालित की जा रही है। पंचायत प्रतिनिधि इससे लगातार लाभान्वित हो रहे हैं। आवासीय परिसर में रोज आयोजित होने वाले प्रशिक्षण सत्र में पंच-सरपंचों को विभिन्न कानूनों की जानकारी भी दी जाती है।

पंच-सरपंचों ने देखा जंगल सफारी, मंत्रालय,  क्रिकेट स्टेडियम और मुक्तांगन...

पंच-सरपंचों ने देखा जंगल सफारी, मंत्रालय, क्रिकेट स्टेडियम और मुक्तांगन...

अध्ययन प्रवास पर आए राजनांदगांव, गरियाबंद एवं जांजगीर-चांपा के पंचायत प्रतिनिधियों ने आज यहां नया रायपुर में जंगल सफारी, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखा। राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत तीनों जिलों के 460 पंच-सरपंच अध्ययन भ्रमण पर राजधानी रायपुर आए हुए हैं। इनमें राजनांदगांव के 216, गरियाबंद के 127 और जांजगीर-चांपा के 117 पंचायत प्रतिनिधि शामिल हैं। दो दिवसीय अध्ययन यात्रा का आज पहला दिन था। पंचायत प्रतिनिधियों ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में प्रशिक्षण सत्र और समूह चर्चा में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्हें सरकार की योजनाओं की जानकारी दी गई। पंच-सरपंचों ने देर शाम पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो का आनंद लिया। इसमें छत्तीसगढ़ के विभिन्न पहलुओं के साथ ही शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं एवं कार्यक्रमों के बारे में बताया गया। पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन प्रवास के दूसरे दिन कल 03 फरवरी को छत्तीसगढ़ विधानसभा, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय एवं फाइव-डी इमर्सिव डोम का भ्रमण करेंगे।

पंचायत प्रतिनिधियों ने सीखा सोशियल मीडिया से जुड़ने का गुर

पंचायत प्रतिनिधियों ने सीखा सोशियल मीडिया से जुड़ने का गुर

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आए पंच-सरपंचों ने आज यहां सोशियल मीडिया से जुड़ने और उसके उपयोग के अनेक गुर सीखे। सोशियल मीडिया की उपयोगिता की जानकारी देते हुए हमर छत्तीसगढ़ योजना की अधिकारी श्रीमती शिवानी श्रीवास्तव ने उन्हें योजना की वेबसाइट और फेसबुक पेज से जुड़ने का तरीका बताया। श्रीमती श्रीवास्तव ने उन्हें यू-ट्यूब पर योजना से संबंधित वीडियो देखना भी सिखाया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में पंच-सरपंचों को प्रशिक्षण सत्र में सोशियल मीडिया के उपयोग के बारे में बताया गया। बिलासपुर, रायगढ़ और बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के करीब साढ़े पांच सौ पंचायत प्रतिनिधि इन दिनों राजधानी के दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर आए हुए हैं। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों ने आवासीय परिसर में पंच-सरपंचों को सरकार की अनेक योजनाओं की जानकारी दी। विकास विस्तार अधिकारी श्री जे.के. मिश्रा ने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, तेंदूपत्ता बोनस और धान बोनस जैसे कार्यक्रमों के बारे में बताया। उन्होंने विभिन्न बीमा योजनाओं जैसे आम आदमी बीमा योजना, अटल खेतिहर मजदूर बीमा, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना तथा कौशल विकास योजना की जानकारी दी। सहायक करारोपण अधिकारी श्री राजेन्द्र ठाकुर ने भी पंच-सरपंचों को सरकार की योजनाओं की जानकारी दी। पंचायत प्रतिनिधियों ने कौशल विकास पर आधारित लघु फिल्म भी देखी।

राजधानी भ्रमण की खुशनुमा यादों के साथ लौटे पंच-सरपंच

राजधानी भ्रमण की खुशनुमा यादों के साथ लौटे पंच-सरपंच

राज्य शासन के हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत अध्ययन प्रवास पर आए करीब साढ़े पांच सौ पंचायत प्रतिनिधि राजधानी भ्रमण की खुशनुमा यादों के साथ आज देर शाम अपने-अपने जिलों को लौटे। राजनांदगांव के 248, कोरबा के 160 एवं महासमुंद के 136 पंचायत प्रतिनिधियों ने दो दिनों तक रायपुर और नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण कर प्रदेश के विकास को नजदीक से देखा। इस दौरान उन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा, मंत्रालय, जंगल सफारी, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखा। पंचायत प्रतिनिधियों ने इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के सामने जोरा मैदान में चल रहे राष्ट्रीय कृषि मेले में भी शिरकत की। अध्ययन प्रवास के पहले दिन उन्होंने पुरखौती मुक्तांगन में, और दूसरे दिन हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का आनंद लिया। आवासीय परिसर में दोनों दिन प्रशिक्षण एवं सामूहिक चर्चा के जरिए पंचायत प्रतिनिधियों को सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी दी गई। इस दौरान उन्होंने अपने-अपने गांवों में चल रहे विकास कार्यों और शासन की कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के अनुभव भी साझा किए। पंच-सरपंच जंगल सफारी के रोमांच, विधानसभा एवं मंत्रालय में राज-काज के बारे में मिली जानकारी तथा भव्य राष्ट्रीय कृषि मेले में खेती के उन्नत तरीकों को देखकर, दो दिवसीय अध्ययन यात्रा पूरी कर खुशनुमा यादों के साथ राजधानी से विदा हुए।

खुले में वन्य प्राणियों को देख रोमांचित हुए पंचायत प्रतिनिधि

खुले में वन्य प्राणियों को देख रोमांचित हुए पंचायत प्रतिनिधि

राष्ट्रीय कृषि मेले में भी हुए शामिल हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन प्रवास पर आए पंचायत प्रतिनिधियों ने आज यहां नया रायपुर में जंगल सफारी का भ्रमण किया। यहां वन्य प्राणियों को खुले में विचरते देख वे खासे रोमांचित हुए। पंच-सरपंचों ने जंगल सफारी में बाघ, सिंह, भालू, मोर और हिरणों की कई प्रजातियों सहित मगरमच्छ देखे। दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर आए राजनांदगांव, महासमुंद एवं कोरबा के पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय भी देखा। वे यहां प्रशासनिक ब्लॉक, एंसीलरी ब्लॉक, मंत्री ब्लॉक तथा सचिव ब्लॉक देखकर मंत्रालय की कार्यप्रणाली से अवगत हुए। पंचायत प्रतिनिधि इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के सामने जोरा मैदान पर चल रहे राष्ट्रीय कृषि मेले में भी शामिल हुए। उन्होंने यहां कई स्टॉलों में घूमकर खेती की आधुनिक तकनीकों एवं कृषि यंत्रों की जानकारी प्राप्त की। पंच-सरपंचों ने आज पुरखौती मुक्तांगन भी देखा। लाइट एंड साउंड शो के जरिए यहां वे छत्तीसगढ़ के विविध पहलुओं के साथ सरकार की योजनाओं से रू-ब-रू हुए। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में जनप्रतिनिधियों ने प्रशिक्षण और सामूहिक चर्चा में भी उत्साह से हिस्सा लिया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत तीन जिलों के करीब साढ़े पांच सौ पंचायत प्रतिनिध अध्ययन भ्रमण पर आए हुए हैं। इनमें राजनांदगांव के 248, कोरबा के 160 एवं महासमुंद के 136 पंच-सरपंच शामिल हैं।

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर में भी लहराया तिरंगा

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर में भी लहराया तिरंगा

हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में देश का 69वां गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया गया। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के संयुक्त संचालक श्री एल.एन. साहू ने यहां ध्वजारोहण किया। इस मौके पर विकास आयुक्त कार्यालय के उपायुक्त श्री दीपक शर्मा, हमर छत्तीसगढ़ योजना के प्रभारी अधिकारी श्री अजय श्रीवास्तव एवं श्री दिनेश अग्रवाल सहित योजना में काम कर रहे विभिन्न विभागों और एजेंसियों के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।

अध्ययन प्रवास पर आए पंच-सरपंचों ने किया राजधानी का भ्रमण

अध्ययन प्रवास पर आए पंच-सरपंचों ने किया राजधानी का भ्रमण

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत अध्ययन यात्रा पर आए पंच-सरपंचों ने रायपुर और नया रायपुर के अनेक स्थानों का भ्रमण किया। पंचायत प्रतिनिधियों ने दो दिवसीय अध्ययन भ्रमण के दौरान जंगल सफारी, मंत्रालय, विधानसभा, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम एवं पुरखौती मुक्तांगन देखा। मुक्तांगन में उन्होंने लाइट एंड साउंड शो का भी आनंद लिया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में पंचायत प्रतिनिधियों को सरकार की विभिन्न योजनाओं एवं निःशुल्क विधिक सहायता की जानकारी दी गई। पंच-सरपंचों ने शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन और विकास कार्यों से जुड़े अपने अनुभव भी साझा किए। राजनांदगांव, बिलासपुर और गरियाबंद के 538 पंच-सरपंच राजधानी की अध्ययन यात्रा पर आए हुए थे। इनमें गरियाबंद के 211, राजनांदगांव के 165 एवं बिलासपुर के 162 पंचायत प्रतिनिधि शामिल थे।

बिलासपुर जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने तखतपुर विधायक श्री राजू सिंह क्षत्री से की मुलाकात....

बिलासपुर जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने तखतपुर विधायक श्री राजू सिंह क्षत्री से की मुलाकात....

‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’ के अंतर्गत दो दिवसीय अध्ययन भ्रमण पर आये बिलासपुर जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने आज छत्तीसगढ़ विधान सभा का भ्रमण किया| भ्रमण के दौरान उनसे मिलने बिलासपुर जिले के तखतपुर विधायक श्री राजू सिंह क्षत्री आये| श्री राजू सिंह जी ने जन प्रतिनिधियों को अपने 5 वर्षों के कार्यकाल के बारे में विस्तार से बताया साथ ही उन्हें यह भी बताया कि एक विधायक को किस प्रकार अपने क्षेत्र की समस्याओं को अध्यक्ष महोदय के सामने रखा जाता है| श्री राजू सिंह क्षत्री जी ने बिलासपुर जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों से अपने अनुभव साझा किये| तत्पश्चात उन्हें ‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’ में आने के लिए धन्यवाद दिया|

पंचायत प्रतिनिधियों ने देखा मंत्रालय, कृषि विश्वविद्यालय,  क्रिकेट स्टेडियम और मुक्तांगन

पंचायत प्रतिनिधियों ने देखा मंत्रालय, कृषि विश्वविद्यालय, क्रिकेट स्टेडियम और मुक्तांगन

हमर छत्तीसगढ़ योजना में दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर आए दुर्ग, बालोद और रायगढ़ के पंचायत प्रतिनिधियों ने आज यहां पहले दिन नया रायपुर स्थित मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, मुक्तांगन एवं रायपुर का इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय देखा। योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा के होटल प्रबंधन संस्थान में पंच-सरपंचों को विभिन्न शासकीय योजनाओं की जानकारी दी गई। तीनों जिलों के पंचायत प्रतिनिधियों ने शाम को पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो का आनंद लिया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत रायगढ़ के 217, बालोद के 197 तथा दुर्ग के 36 पंच-सरपंच अध्ययन प्रवास पर आज सवेरे रायपुर पहुंचे। अध्ययन यात्रा के दूसरे दिन कल 23 जनवरी को वे जंगल सफारी, साइंस सेंटर, छत्तीसगढ़ विधानसभा, चंपारण और स्वामी विवेकानंद विमानतल का भ्रमण करेंगे।

लैलूंगा विधायक व संसदिव सचिव श्रीमती सुनीति सत्यानंद राठिया ने की रायगढ़ जिले के जनप्रतिनिधियों से मुलाकात....

लैलूंगा विधायक व संसदिव सचिव श्रीमती सुनीति सत्यानंद राठिया ने की रायगढ़ जिले के जनप्रतिनिधियों से मुलाकात....

‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’ के अंतर्गत रायगढ़ जिले के जनप्रतिनिधयों को विधानसभा भ्रमण का अवसर मिला| जहाँ माननीय मुख्य अथिति के रूप में वर्तमान लैलूंगा विधायक व संसदिव सचिव श्रीमती सुनीति सत्यानंद राठिया का स्वागत डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी प्रेक्षागृह में अपर सचिव डॉ. सत्येन्द्र तिवारी ने स्वागत किया गया। श्रीमती राठिया ने अपने उद्धबोधन में कहा कि ‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’ में आये हुए जनप्रतिनिधयों को भ्रमण कराया जा रहा है जिससे वह विकसित छत्तीसगढ़ को देख पा रहे हैं हमारा छत्तीसगढ़ आज 18 वें वर्ष में प्रवेश कर चुका है| यह युवा छत्तीसगढ़ विकास के पथ पर अग्रसर है|यह हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय डॉ रमन सिंह जी के कारण संभव हुआ| ‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’ एक महत्वपूर्ण योजना है जिसमें छत्तीसगढ़ के जनप्रतिनिधयों को शुभ अवसर मिला है कि वह सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं को जान सकें व उसका लाभ अपनी पंचायत के लोगों को पहुंचा सकें| उन्होंने सभी जनप्रतिनिधयों का नया रायपुर आने के लिए धन्यवाद दिया।

विधानसभा अध्यक्ष माननीय श्री गौरीशंकर अग्रवाल जी ने बलौदाबाजार-भाटापारा के जनप्रतिनिधियों से की मुलाकात...

विधानसभा अध्यक्ष माननीय श्री गौरीशंकर अग्रवाल जी ने बलौदाबाजार-भाटापारा के जनप्रतिनिधियों से की मुलाकात...

‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’ के अंतर्गत विधानसभा भ्रमण पर आए बलौदाबाजार के पंचायत के 145 जनप्रतिनिधियों से माननीय श्री गौरीशंकर अग्रवाल जी अध्यक्ष छत्तीसगढ़ विधानसभा के द्वारा सभी जनप्रतिनिधियों का विधानसभा के सभा भवन में स्वागत किया गया| श्री गौरीशंकर अग्रवाल जी ने सभा भवन में सदन की एक रूपरेखा तैयार की| जिसमें श्री चंद्रशेखर गंगराडे सचिव विधानसभा भी उपस्थित थे| तत्पश्चात श्री अग्रवाल जी ने बलौदाबाजार-भाटापारा से आए हुए जनप्रतिनिधियों को विधानसभा की कार्यवाही व विधायकों के बैठक व्यवस्था एवं वहां पर किस तरह से विधानसभा की कार्यवाही होती है व विधानसभा में विधेयक और बजट कैसे पारित किया जाता है, तथा किसी भी पंचायत में होने वाले खर्च का किस तरह से निर्धारण किया जाता है इस विषय पर अध्यक्ष जी ने जनप्रतिनिधियों को विधानसभा की गतिविधियों की जानकारियां प्रदान की और विधानसभा के सदन को सबसे बड़ी पंचायत की संज्ञा देते हुए बताया कि हमर छत्तीसगढ़ अध्ययन भ्रमण योजना को विधानसभा में पक्ष और विपक्ष की सहमति से ही पारित किया गया| इसी प्रकार कोई भी योजना यह बजट का निर्धारण पक्ष और विपक्ष के सहमति के बगैर नहीं किया जा सकता है l साथ ही उन्होंने बताया कि कोई भी विधेयक किसी एक की सहमति से संभव नहीं हो सकता है इसके पश्चात माननीय श्री गौरीशंकर शंकर अग्रवाल जी अपने बलौदाबाजार-भाटापारा के सभी जनप्रतिनिधियों को साल कर अभिनंदन किया और सभी पंच सरपंच को अच्छे काम और अपने पंचायत का विकास करने के लिए प्रोत्साहित किया| और आगामी वर्ष में विधायक चुनकर आने की शुभकामनाएं व स्वागत किया|

पंच सरपंचों ने किया अध्ययन-भ्रमण

पंच सरपंचों ने किया अध्ययन-भ्रमण

हमर छत्तीसगढ़ योजना’ में अध्ययन-भ्रमण पर आए बिलासपुर, गरियाबंद एवं राजनांदगांव जिलों के पंच-सरपंचों ने नया रायपुर एवं राजधानी के महत्वपूर्ण स्थलों के बारे में जाना-समझा. जिसे देखकर वे बेहद उत्साहित हुए. शासन की महत्वपूर्ण योजना “हमर छत्तीसगढ़” में बिलासपुर जिले के 162, गरियाबंद जिले के 211 एवं राजनांदगांव जिले से 165 पंचायत प्रतिनिधि योजना के तहत आए| इन प्रतिनिधियों ने दो दिवसीय अध्ययन-भ्रमण यात्रा के दौरान नंदन वन जंगल सफारी, छत्तीसगढ़ विधानसभा, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय एवं देखा और इन स्थलों की विशेषताओं से परिचित हुए| पुरखौती मुक्तांगन में देर शाम लाईट एंड साउंड शो के माध्यम से मनोरंजक कार्यक्रमों के जरिये पंच-सरपंच के दायित्व को समझने का अवसर भी उन्हें मिला. दोपहर को आवासीय परिसर में विषय विशेषज्ञों के साथ ग्राम विकास और पंचायत प्रतिनिधियों के कर्तव्य के परिपालन सम्बन्धी बातचीत की गई|

प्रदेश के विकास और शासन की योजनाओं से

प्रदेश के विकास और शासन की योजनाओं से

रू-ब-रू हुए पंचायत प्रतिनिधि हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आए बस्तर, कांकेर एवं जांजगीर-चांपा के पंचायत प्रतिनिधि आज यहां प्रदेश में पिछले 15 वर्षों में हुए विकास कार्यों और शासन की योजनाओं से रू-ब-रू हुए। तीनों जिलों से आए करीब 400 पंच-सरपंचों ने आज अध्ययन यात्रा के पहले दिन राजधानी के अनेक स्थानों का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने जंगल सफारी, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, पुरखौती मुक्तांगन और इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय का भ्रमण किया। जंगल सफारी के खंडवा जलाशय में उन्होंने बोटिंग का भी आनंद लिया। पुरखौती मुक्तांगन में शाम को लाइट एंड साउंड शो के माध्यम से उन्हें छत्तीसगढ़ के इतिहास, पुरातत्व, लोककला और संस्कृति सहित शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं के बारे में बताया गया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत दो दिनों के अध्ययन प्रवास पर बस्तर जिले के 210, जांजगीर-चांपा के 116 एवं कांकेर जिले के 58 पंच-सरपंच रायपुर आए हुए हैं। प्रवास के दूसरे दिन वे कल 13 जनवरी को छत्तीसगढ़ विधानसभा, साइंस सेंटर और स्वामी विवेकानंद विमानतल का भ्रमण करेंगे।

लाइट एन्ड साउंड शो...

लाइट एन्ड साउंड शो...

पुर्खोती मुक्तांगन के मुक्ताकाश मंच पर पौराणिक कथाओ के चरित्रों को जीवंत करते हुए कलाकार बेहतरीन प्रस्तुति देते है. बालोद, दुर्ग एवं महासमुंद जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने यहाँ देर शाम आयोजित लाइट एंड साउंड शो का आनंद लिया. मंच पर कलाकारों ने पौराणिक ग्रंथो में उलेखित शिव-सती के प्रसंग का मंचन किया. प्रदेश के दविया शक्तिपीठो का मत्माया बताया गया. श्री राम के वनवास के दौरान शबरी से भेट एवं झूठे बेर खाकर भक्त के प्रति प्रेम प्रदर्शित करने के प्रसंग को बेहतर ढंग से पेश किया. राज्य के विकास कार्यो, योजनाओ से विभिन वर्गों को मिल रहे लाभ के सम्बन्ध में प्रस्तुति देते हुए कलाकारों ने प्रचार-प्रसार किया. एक सरपंच के उत्तरदायित्व और कर्त्तव्यनिष्ठा का मंचन प्रतिनिधियों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, जिसमे सरपंच अपने ग्राम पंचायत के प्रत्येक सदस्य के लिए मदद करने को समर्पित करना रहता है| महासमुंद जिले के विधायक माननीय श्री चुन्नीलाल साहू भी कार्यकर्म में सरिक हुए. उन्होंने जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर कलाकारों की हौसला अफजाई की | साथ ही पंचायत जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए उन्होंने हमर छत्तीसगढ़ योजना के सम्बन्ध में अनेक जानकारी दी |

केन्द्रीय संयुक्त सचिव ने‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’को सराहा...

केन्द्रीय संयुक्त सचिव ने‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’को सराहा...

हमर छत्तीसगढ़ योजना’ आवासीय परिसर में बुधवार को श्री अतुल तिवारी, केन्द्रीय संयुक्त सचिव पंचायत राज मंत्रालय का आगमन हुआ| उनके साथ श्री सुरेश त्रिपाठी, संयुक्त संचालक राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन एवं राजीव त्रिपाठी, राज्य समन्वयक रुर्बन मिशन भी मौजूद रहे| प्रभारी अधिकारी श्री दिनेश अग्रवाल ने श्री अतुल तिवारी जी को पुष्पगुच्छ देकर उनका स्वागत किया| अपने छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान श्री अतुल तिवारी जी ने ‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’ आवासीय परिसर उपरवारा का भ्रमण किया|उन्होंने जनसंपर्क विभाग द्वारा लगाईं गयी फोटो प्रदर्शनी का अवलोकन किया| साथ ही पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा हमर छत्तीसगढ़ योजना पर प्रकाशित पुस्तक ‘हमर छत्तीसगढ़’भी देखी|श्री अतुल तिवारी जी ने जमीनी स्तर पर ग्रामीण विकास का कार्य कर रहे संगठनों और उनके प्रतिनिधियों को भी हमर छत्तीसगढ़ योजना से जोड़ने का सुझाव दिया।

सरगुजा सांसद श्री कमल भान सिंह ने की पंच-सरपंचों से मुलाकात...

सरगुजा सांसद श्री कमल भान सिंह ने की पंच-सरपंचों से मुलाकात...

हमर छत्तीसगढ़ योजना’ में अध्ययन-भ्रमण पर आए बिलासपुर, सरगुजा एवं बलरामपुर-रामानुजगंज जिलों के पंच-सरपंचों ने अध्ययन भ्रमण के दुसरे दिन की सायंकाल सांस्कृतिक संध्या के दौरान माननीय श्री कमल भान सिंह, मरावी सांसद जिला सरगुजा एवं श्री प्रताप खलखो जी जिला पंचायत उपाध्यक्ष जिला सरगुजा से मुलाक़ात की| श्री कमल भान सिंह जी ने पंच-सरपंचों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं सर्वप्रथम योजना में आने के लिए आप सभी का आभार व्यक्त करता हूँ| यह योजना हमारे माननीय मुख्यमंत्री श्री रमन सिंह जी कि महत्वाकांक्षी योजना है| इस योजना को सफल बनाने में आप सभी का भी एक अहम् योगदान है| मैं आप सभी को एवं माननीय श्री रमन सिंह जी को इस योजना की सफलता की शुभकामनाएं देता हूँ|श्री कमल भान सिंह जी ने अपने संबोधन के उपरान्त जनप्रतिनिधियों से वार्तालाप किया| जिसमे उन्होंने एक जन्प्रतिनिधि से पूछा की आपको इस योजना में आकर कैसा लग रहा है? इस पर जनप्रतिनिधि ने उनसे कहा कि यह योजना वाकई एक अच्छी योजना है मैं या मेरे जैसा सुदूरवर्ती व्यक्ति नया रायपुर आने की सोच भी नहीं सकता| ऐसे में माननीय श्री रमनसिंह जी ने हमें ये मौका दिया कि हम यहाँ आकर अपने छत्तीसगढ़ को विकास की ऊँचाइयाँ छूता देख सकें|

लोकसभा संसद सदस्य श्री लखन लाल साहू से पंच-सरपंचों की मुलाकात...

लोकसभा संसद सदस्य श्री लखन लाल साहू से पंच-सरपंचों की मुलाकात...

‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’ में अध्ययन-भ्रमण पर आए बिलासपुर जिले के पंच-सरपंचों ने बिलासपुर से लोकसभा संसद सदस्य माननीय श्री लखन लाल साहू जी से मुलाकात की| श्री लखन लाल साहू जी ने पंच-सरपंचों को संबोधित करते हुए कहा कि सर्वप्रथम योजना में आने के लिए आप सभी का आभार| आभार व्यक्त करने के उपरान्त उन्होंने सभी जन प्रतिनिधियों से उनकी पंचायतों के हाल चाल पूछे व उनके पंचायत के विषय में पूछा कि किस प्रकार उनके पंचायतों में योजनाएं संचालित की जा रही हैं? अंत में उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय श्री रमन सिंह जी को ‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’ के लिए बधाई दी| श्री लखन लाल साहू जी ने जन प्रतिनिधियों के भोजन कक्ष का भी जायजा लिया|

 पंच सरपंचों ने किया अध्ययन-भ्रमण

पंच सरपंचों ने किया अध्ययन-भ्रमण

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन-भ्रमण पर आए बलौदाबाजार- भाटापारा, सूरजपुर एवं कोंडागांव जिलों के पंच-सरपंचों ने नया रायपुर एवं राजधानी के महत्वपूर्ण स्थलों के बारे में जाना-समझा. जिसे देखकर वे बेहद उत्साहित हैं. शासन की महत्वपूर्ण योजना “हमर छत्तीसगढ़” में कोंडागांव जिले के 192, सूरजपुर जिले के 230 एवं बलौदाबाजार जिले से 161 पंचायत प्रतिनिधि योजना में आए हुए हैं. इन प्रतिनिधियों ने दो दिवसीय अध्ययन-भ्रमण यात्रा के दौरान नंदन वन जंगल सफारी, छत्तीसगढ़ विधानसभा, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय एवं स्वामी विवेकानन्द विमानतल देखा और इन स्थलों की विशेषताओं से परिचित हुए. पुरखौती मुक्तांगन में देर शाम लाईट एंड साउंड शो के माध्यम से मनोरंजक कार्यक्रमों के जरिये पंच-सरपंच के दायित्व को समझने का अवसर भी मिला. दोपहर को आवासीय परिसर में विषय विशेषज्ञों के साथ ग्राम विकास और पंचायत प्रतिनिधियों के कर्तव्य के परिपालन पर बातचीत की गई.

समूचे प्रदेश का दर्शन है “हमर छत्तीसगढ़”

समूचे प्रदेश का दर्शन है “हमर छत्तीसगढ़”

तीन जिलों के 586 पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन-भ्रमण पर छत्तीसगढ़ राज्य के विकास, योजनाओं की महत्वपूर्ण जानकारी, मनोरंजन, प्रदर्शनी, विज्ञान, कृषि का समावेश है हमर छत्तीसगढ़ योजना में. जहाँ ग्रामीण इलाकों के ऐसे प्रतिनिधि, जिन्होंने न कभी राजधानी देखी है और न ही नया रायपुर. इन प्रतिनिधियों के लिए अध्ययन-भ्रमण यात्रा मात्र मनोरंजन नहीं है, बल्कि पंचायतों के बेहतर विकास के लिए सीखने-समझने का अभूतपूर्व कार्यक्रम भी है. हमर छत्तीसगढ़ योजना में दो दिवसीय अध्ययन-भ्रमण पर आए कोरबा, कोरिया एवं रायगढ़ जिले के 586 पंच-सरपंचों ने नया रायपुर एवं राजधानी के महत्वपूर्ण स्थलों के बारे में जाना-समझा. भ्रमण यात्रा पर जाने के लिए सभी प्रतिनिधियों का पंजीयन जरूरी है, प्रतिनिधियों ने अपना पंजीयन कराया और पहचान पत्र प्राप्त किया. “हमर छत्तीसगढ़ योजना” में रायगढ़ जिले के 230, कोरबा जिले के 163 एवं कोरिया जिले के 193 पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन-भ्रमण पर आए हुए हैं. इन प्रतिनिधियों ने दो दिवसीय अध्ययन-भ्रमण यात्रा के दौरान नंदन वन जंगल सफारी, छत्तीसगढ़ विधानसभा, पर्यटन स्थल चम्पारण्य, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय एवं स्वामी विवेकानन्द विमानतल देखा और इन स्थलों की विशेषताओं से परिचित हुए. प्रतिनिधियों ने खंडवा जलाशय में नौका विहार का आनन्द लिया. ग्रामीण जनजीवन और रहन-सहन से दूर महानगर की संस्कृति, माहौल को देखना इन प्रतिनिधियों के लिए आश्चर्यमिश्रित हर्ष का विषय है. पुरखौती मुक्तांगन में देर शाम लाईट एंड साउंड शो के माध्यम से मनोरंजक कार्यक्रमों के जरिये पंच-सरपंच के दायित्व को समझने का अवसर भी मिला. दोपहर को आयोजित समूह चर्चा में शामिल होकर प्रतिनिधियों ने अपने अनुभव भी साझा किए. रायगढ़ जिले के ग्राम पंचायत भालूमार की पंच श्रीमती मजीरा राठिया बताती हैं कि हमर छत्तीसगढ़ योजना में जंगल सफारी देखने का अवसर प्राप्त हुआ. यहां हमने बॉटनिकल गार्डन में औषधीय पौधे देखे. खंडवा जलाशय में बोटिंग की. सफारी में शेर, भालू, हिरण आदि वन्यप्राणी देखकर बहुत अच्छा लगा. एशिया का सबसे बड़ा मानव निर्मित जंगल सफारी देख पाएंगे, ये कभी नहीं सोचा था. कोरबा जिले के बरीडीह ग्राम पंचायत की पंच श्रीमती साधमती कहती हैं कि महिलाओं को ऐसा अवसर प्रथम बार मिला है. हमारे पंचायत की कुछ महिलाएं पहली बार रायपुर आई हैं, यहां के माहौल से काफी प्रभावित हुई हैं. यह हमारे लिए एक अच्छा प्लेटफॉर्म है, जिससे हम बहुत सारी योजनाओं से रूबरू हो रहे हैं. शासन ग्राउंड लेवल पर काफी अच्छा प्रयास कर रही है। जिला कोरिया के ग्राम पंचायत नागपुर की पंच श्रीमती सरोज जायसवाल का कहना है कि हमर छत्तीसगढ़ बहुत ही लाभकारी योजना है. यहाँ हमें महत्वपूर्ण जानकारी मिल रही है. पंचायत में संचालित योजनाओं का भली प्रकार से लाभ उठाया जा सकता है. इसके लिए प्रतिनिधियों को जागरूक होना चाहिए।

महानगरीय संस्कृति से रूबरू हुए वनांचल क्षेत्रों के पंच-सरपंच

महानगरीय संस्कृति से रूबरू हुए वनांचल क्षेत्रों के पंच-सरपंच

बस्तर संभाग के 377 प्रतिनिधि अध्ययन-भ्रमण पर हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन-भ्रमण पर आए बस्तर संभाग के तीन जिलों के पंच-सरपंचों ने नया रायपुर एवं राजधानी के महत्वपूर्ण स्थलों के बारे में जाना-समझा. सुदूर वनांचल इलाकों से यहाँ आए प्रतिनिधियों के लिए नया माहौल और नजारा है, जिसे देखकर वे बेहद उत्साहित हैं. शासन की महत्वपूर्ण योजना “हमर छत्तीसगढ़” में बस्तर जिले के 223, कोंडागांव जिले के 142 एवं कांकेर जिले से 12 पंचायत प्रतिनिधि योजना में आए हुए हैं. इन प्रतिनिधियों ने दो दिवसीय अध्ययन-भ्रमण यात्रा के दौरान नंदन वन जंगल सफारी, छत्तीसगढ़ विधानसभा, पर्यटन स्थल चम्पारण्य, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय एवं स्वामी विवेकानन्द विमानतल देखा और इन स्थलों की विशेषताओं से परिचित हुए. बस्तर के ग्राम्य जनजीवन और रहन-सहन से दूर महानगरीय संस्कृति को देखना इन प्रतिनिधियों के लिए आश्चर्यमिश्रित हर्ष का विषय है. पुरखौती मुक्तांगन में देर शाम लाईट एंड साउंड शो के माध्यम से मनोरंजक कार्यक्रमों के जरिये पंच-सरपंच के दायित्व को समझने का अवसर भी मिला. दोपहर को आवासीय परिसर में विषय विशेषज्ञों के साथ ग्राम विकास और पंचायत प्रतिनिधियों के कर्त्तव्य के परिपालन पर बातचीत की गई. अपर विकास आयुक्त एवं नोडल अधिकारी श्री सुभाष मिश्रा ने प्रतिनिधियों को उनके जिम्मेदारी के प्रति जागरूक करते हुए पंचायतों में बेहतर विकास कार्य करने की सीख दी.

बीमा बनेगा सहारा.....

बीमा बनेगा सहारा.....

हमर छत्तीसगढ़ योजना में आये जिला सूरजपुर एवं कोंडागांव जिलों के जनप्रतिनिधियों केज्ञानवर्धन हेतु भ्रमण के प्रथम दिवस समूह चर्चा का आयोजन किया गया जिसमे विषय विशेषज्ञ विकास विस्तार अधिकारी जयंत कुमार मिश्रा एवंपैनल अधिवक्ता श्री शाहिद लुधियानवी खान सिविल कोर्ट रायपुर सम्मिलित हुए I श्री जे.के. मिश्रा जी ने प्रतिनिधियों को हमर छत्तीसगढ़ योजना द्वारा किये जाने वाले समूह चर्चा से अवगत कराया| उन्होंने सरकार द्वारा चलाये जाने वाली विभिन्न बीमा योजनाओ की जानकारी दी जिसमे मिश्रा जी ने जनप्रतिनिधियों को आम आदमी बीमा योजना के विषय में बताया कि इस योजना में18 वर्ष से 60 वर्ष तक का वो सदस्य जो ग्रामीण भूमि हीन परिवार या परिवार का रोजगार करने वाला व्यक्ति हो या बी.पी.एल सर्वे में चिन्हांकित परिवार का सदस्य होना चाहिए, को प्रीमियम राशी का भुगतान शासन द्वारा किया जाता है| हितग्राही को कोई भुगतान नहीं करना है| इसमें हितग्राही को समान्य मृत्यु पर 30000 और दुर्घटना मृत्यु पर 75000 हजार रू. दिया जाता है इसी प्रकार अन्य बीमा योजनाओ के बारे में लोगो को अवगत कराया I शाहिद लुधयानवी खान पैनल अधिवक्ता रायपुर ने जनप्रतिनिधियों को विधिक सेवा राजीनामा व लोकअदालत में झगड़ो का सुलह करने एवं माननीय न्यायालय द्वारा पैनल अधिवक्ता जो निर्धन ग्रामीणों के लिए नि:शुल्क रहता है, के द्वारा झगड़ो का निपटारा किया जाता है और अधिकतर गाँव में होने वाली छोटी-छोटी समस्या जैसे नामान्तरण, बंटातरण,कब्ज़ा के लिए धारा 150 नामांतरण के लिए धारा 178 बटवारा ओर धारा 250 बेजा कब्जा करने में इन धाराओं के बारे में जानकारी प्रदान किया गया I